दिग्विजय सिंह के बयान पर राहुल गांधी बोले, यह उनका व्यक्तिगत दृष्टिकोण हो सकता है, हमारा नहीं

Politics

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा जम्मू-कश्मीर पहुंची है। इस दौरान सोमवार को दिग्विजय सिंह ने कहा था कि सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत कहां हैं? उन्होंने पुलवामा हमले को लेकर भी सवाल खड़े किए थे। इस पर मामले ने सियासी तूल पकड़ लिया था।

हमें आर्मी पर भरोसा

दिग्विजय सिंह के बयान पर राहुल गांधी ने कहा, ‘हमें आर्मी पर पूरा भरोसा है। अगर आर्मी कुछ करती है तो उन्हें सबूत देने की जरूरत नहीं है। यह दिग्विजय सिंह का व्यक्तिगत दृष्टिकोण है, मेरा या काग्रेंस पार्टी का उसे कोई समर्थन नहीं है। मैं दिग्विजय के बयान से सहमत नहीं हूं।’

बीजेपी देश में फैला रही नफरत

राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी लोगों को धर्म, जाति और लिंग के आधार पर बांट रही है। देश में नफरत फैला रहे हैं। भारत के भाई-चारे को लेकर, भारत की संस्कृति को लेकर देश में क्या हो रहा है? राजनाथ सिंह एक पार्टी का हिस्सा हैं, वह अपनी पार्टी की भाषा बोलते हैं। वह अपना दृष्टिकोण नहीं रखते।

सावरकर ने दिया दो भारत का कॉन्सेप्ट

बीजेपी और आरएसएस पर अंग्रेजों का साथ देने का आरोप लगाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस ने इस देश को आजादी दी है। देश के संविधान बनाए हैं। कांग्रेस की फिलॉसफी पर भारत बना है। जब हम अंग्रेजों से लड़ रहे थे तब आरएसएस और बीजेपी उनके साथ खड़ी थी। उनकी पार्टी के सावरकर ने दो भारत का कॉन्सेप्ट दिया था।

जम्मू-कश्मीर के नौजवान परेशान हैं, इस सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि कश्मीर में मैं लोगों से मिल रहा हूं। सबके दिन में ये संवेदनाएं हैं। युवाओं को फ्यूचर नहीं दिख रहा है। उद्योग नहीं हैं। किसानों को सपोर्ट नहीं मिल रहा है। हमारा लक्ष्य… भारत जोड़ो यात्रा का लक्ष्य लोगों की बात सुनने का और उनके दिल में जो है, उसे लागू करने का है।

मोहब्बत की हजारों दुकान खोलना चाहते हैं

राहुल ने कहा कि कश्मीर के लोगों के दिल में जो दर्द है, उसे हम सुनने और समझने आए हैं। हम सबको प्यार करते हैं, सम्मान करते हैं। समझते हैं कि जम्मू-कश्मीर मुश्किल समय से गुजरत रहा है। जम्मू-कश्मीर के बीच बीजेपी ने जो खाई बनाई है, हम उसे पाटने का काम करने आए हैं। मोहब्बत की हजारों दुकान हम जम्मू-कश्मीर में खोलना चाहते हैं। नफरत से कुछ नहीं होता है, हिंसा से कुछ सुलझाया नहीं जा सकता है। गले लगने से काम हो सकता है। हम चाहते हैं कि जल्दी से जल्दी आपको आपका अधिकार मिले।

पप्पू वाली छवि पर क्या बोले राहुल गांधी?

मेरी छवि खराब करने के लिए हजारों करोड़ रुपये बीजेपी ने खर्च किए। सिस्टमैटिक ढंग से मेरी इमेज खराब की। बीजेपी के दिमाग में है कि पैसे से कुछ भी किया जा सकता है। आरएसएस और बीजेपी के नेता सोचते हैं कि सत्ता और रुपयों से कुछ भी किया जा सकता है। किसी की भी छवि को खराब कर दो, कोई भी सरकार खरीद लो, जो भी करना चाहो पैसे से करा जा सकता है। सच्चाई, सत्ता और पैसों सबको परे कर देती है। हम लोगों गहराई से समझा रहे हैं कि सच्चाई चलती है… पैसा या घमंड नहीं।

Compiled: up18 News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *