ताजमहल में नमाज़: हिंदूवादी संगठन ने 6 दिसंबर को लड्डू गोपाल विराजमान करने का किया एलान

Local News

आगरा: ताजमहल के अंदर पार्क में पर्यटक द्वारा नमाज़ पढ़ने का वायरल हुआ वीडियो तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले को लेकर हिंदूवादी संगठनों में रोष व्याप्त है। अखिल भारत हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने तो एएसआई कार्यालय पर जमकर प्रदर्शन किया और ताज महल के अंदर नमाज़ पढ़ने वाले पर्यटकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की। ऐसा न होने पर 6 दिसंबर को साधु संतों के साथ ताजमहल में लड्डू गोपाल को विराजमान करने के साथ-साथ वहां पर हनुमान चालीसा का पाठ करने का ऐलान किया। हिंदूवादी संगठनों के प्रदर्शन की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और स्थिति को संभाला।

जानकारी के मुताबिक रविवार को विशेष समुदाय के लोगों ने ताजमहल भ्रमण करने के दौरान ताजमहल के गार्डन में नमाज अदा की। इस का वीडियो किसी ने बनाया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। 19 सेकेंड के इस वीडियो में ताज स्थित गार्डन में एक युवक टोपी लगाए हुए बैठा है और सजदा करता हुआ दिखाई दे रहा है। वहीं उसके बगल में एक महिला भी बैठी हुई है।

बताया जाता है कि पुरुष और महिला पर्यटकों ने वहां पर नमाज अदा की है। इस वीडियो के वायरल हो जाने के बाद से ही अखिल भारत हिंदू महासभा के कार्यकर्ता में रोष व्याप्त है। उनका कहना है कि विशेष समुदाय के लोग कभी भी ताज महल के अंदर आकर नमाज अदा करके चले जाते हैं जबकि हिंदूवादी संगठनों के अनुसार ताजमहल तेजो महालय है और उसकी पूजा आराधना हिंदू को नहीं करने दी जाती। यह दोहरी रणनीति क्यों अपनाई जा रही है।

हिंदू वादी नेता आचार्य धर्मानंद का कहना है कि ताज महल के भीतर नमाज पढ़ने वाले व्यक्तियों के ऊपर यदि कार्यवाही नहीं होती है तो वे साधु संतों और संगठन के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर 6 दिसंबर को ताज महल के भीतर लड्डू गोपाल को विराजमान कराएंगे। फिर सभी लोग मिलकर हनुमान चालीसा का पाठ भी करेंगे।

अखिल भारत हिंदू महासभा महिला विंग की प्रांतीय अध्यक्ष मीना दिवाकर का कहना है कि ताजमहल में इस तरह की गतिविधियां सामने आती हैं तो ऐसा लगता है कि विशेष समुदाय के लोगों को इन अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है जो ताजमहल में आकर किसी विशेष नमाज अदा करके चले जाते हैं। विभाग सिर्फ कानूनी कार्रवाई कर अपना पल्ला झाड़ लेता है।

इस पूरे मामले को लेकर एएसआई अधिकारी राजकुमार पटेल का कहना है कि ‘जो वीडियो तेजी के साथ वायरल हो रहा है वह उनकी भी संज्ञान में है। इस मामले में संबंधित अधिकारी संबंधित थाने में तहरीर भी दी है। इस वीडियो की सत्यता जांचने के लिए जांच पड़ताल भी की जा रही है। अगर दोनों पर्यटकों ने नमाज अदा की है तो उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले भी इस तरह की वीडियो सामने आए हैं उन मामलों में भी पर्यटकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गई है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *