रिलायंस ने की अमेरिका स्‍थित कैलक्स कॉर्पोरेशन में निवेश की घोषणा

Business

कैलक्स, पेरोव्स्काइट-आधारित सौर प्रौद्योगिकी के लिए जानी जाती है। कंपनी उच्च दक्षता वाले सौर मॉड्यूल बनाती है जो 20 फीसदी अधिक ऊर्जा का उत्पादन कर सकते हैं। 25 साल तक बिजली पैदा कर सकने वाली इसकी सौर परियोजना की लागत भी काफी कम होती है। रिलायंस गुजरात के जामनगर में एकीकृत फोटोवोल्टिक गीगा फैक्ट्री स्थापित कर रही है। इस साझेदारी से रिलायंस अपने इस संयंत्र में ‘अधिक शक्तिशाली’ और कम लागत वाले सौर मॉड्यूल्स का उत्पादन कर सकेगी।

क्या होगा फायदा

इस निवेश के बारे में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन और एमडी मुकेश अंबानी ने कहा कि कैलक्स में निवेश ‘विश्व स्तरीय हरित ऊर्जा विनिर्माण’ परिवेश बनाने की हमारी रणनीति के अनुरूप है। हमारा मानना है कि कैलक्स की पेरोव्स्काइट-आधारित सौर प्रौद्योगिकी और क्रिस्टलीय सौर मॉड्यूल, हमें अगले चरण तक पहुंचने में मदद करेंगे। हम इसके उत्पाद विकास और इसकी प्रौद्योगिकी के व्यावसायीकरण में तेजी लाने के लिए कैलक्स टीम के साथ काम करेंगे।

कैलक्स कॉर्पोरेशन के सीईओ स्कॉट ग्रेबील ने रिलायंस के साथ साझेदारी पर खुशी जताते हुए कहा कि रिलायंस के साथ साझेदारी में हम क्रिस्टलीय सौर मॉड्यूल को अधिक कुशल और किफायती बनाने पर और अपनी विनिर्माण क्षमताओं के विस्तार पर ध्यान देंगे। रिलायंस ने ग्रीन एनर्जी पर 75 अरब डॉलर निवेश की घोषणा की है। देश के सबसे बड़े रईस गौतम अडानी ने भी ग्रीन एनर्जी सेक्टर में 70 अरब डॉलर के निवेश की बात कही है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.