गुजरात में पीएम मोदी बोले, पद के लिए पदयात्रा कर रहे हैं कांग्रेस नेता

Exclusive

पदयात्रा तो पद के लिए हो रही है: मोदी

दाहोद की जनसभा में पीएम ने नाम लिए बिना राहुल गांधी की पदयात्रा पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा- ‘इन दिनों कांग्रेस के एक नेता पदयात्रा कर रहे हैं। वैसे पदयात्रा तो समाज के भले के लिए की जाती है। लेकिन, इन नेता की यात्रा पद के लिए हो रही है।

कांग्रेस का मॉडल जातिवाद: परिवारवाद और संप्रदायवाद

मेहसाणा में उन्होंने संबोधन में कहा- भारतीय जनता पार्टी एक ऐसी पार्टी है, जिसके लिए व्यक्ति से बढ़कर पार्टी और पार्टी से बड़ा देश है। यही हमारी संस्कृति है और हम इसी संस्कृति के साथ काम करते हैं लेकिन कांग्रेस का मॉडल जातिवाद-परिवारवाद और संप्रदायवाद है। कांग्रेस का मॉडल मतलब है- खरबों का भ्रष्टाचार। लेकिन देश की युवा पीढ़ी अब आगे बढ़ रही है। वह आंखों पर पट्टी बांधकर यकीन नहीं करती, बल्कि काम करने वालों का मूल्यांकन करके आगे बढ़ती है।

हम हमेशा आपके साथ खड़े हैं: पीएम मोदी

पीएम ने आगे कहा, कांग्रेस ने 60 साल शासन किया, लेकिन किसी एक आदिवासी को राष्ट्रपति तक नहीं बनाया। पंचायत से लेकर संसद तक सरकार रही, लेकिन आदिवासियों के लिए कुछ नहीं किया। एक भाई चुनाव प्रचार कर रहे हैं और आदिवासियों की बात कर रहे हैं, मैं उनसे पूछूंगा कि जब बीजेपी ने एक आदिवासी बहन को राष्ट्रपति बनाया तो वे कहां थे? उन्होंने मुंह तक नहीं दिखाया, बल्कि ऊपर से उन्हें हराने की कोशिश की। यही कांग्रेस की मानसिकता है। अगर कांग्रेस जीतती है तो उसके बाद वह आपको मुंह तक नहीं दिखाती। लेकिन हम हमेशा आपके साथ खड़े हैं रहे हैं।

विपक्ष भी सवाल पूछने में हमसे हिचकता है

पीएम ने आगे कहा कि अब से 20 साल पहले यहां सिर्फ 55 लाख बिजली कनेक्शन थे, जो आज दो करोड़ हो चुके हैं क्योंकि अब बिजली कनेक्शन के लिए लोगों को भ्रष्टाचार का सामना नहीं करना पड़ता। वहीं, जहां पहले लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरसते थे, वहीं आज घरों में रोजाना नर्मदा का पानी आ रहा है। बीजेपी सरकार सत्ता में आई ही थी विकास कार्य करने के लिए। इन सालों में हमने इतने विकास कार्य किए हैं कि विपक्ष भी सवाल पूछने में हमसे हिचकता है।

वडोदरा में पीएम की बड़ी सभा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम को वडोदरा में एक विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे। इस जनसभा में पूरे वडोदरा शहर और जिले के प्रत्याशी मौजूद रहेंगे। पीएम मोदी ने इससे पहले 18 जून को वडोदरा में एक बड़ी सभा की थी। इसके बाद वे हाल ही में एयरबस के कारखाने का शिलान्यास करने वडोदरा पहुंचे थे। इस तरह इस महीने में उनका वडोदरा का यह दूसरा दौरा है। पीएम मोदी की यह जनसभा नवलखी ग्राउंड पर रखी गई है।

8 में से सिर्फ एक ही विधायक रिपीट

वडोदरा जिले के अंतर्गत विधानसभा की 10 सीटें आती हैं। पिछले चुनाव में बीजेपी ने 8 तो कांग्रेस ने दो सीटें जीती थीं। इस बार बीजेपी ने 7 मौजूदा विधायकों के टिकट काटकर नए चेहरों को जगह ही दी है। सिर्फ मांझलपुर सीट ही ऐसी है, जहां से योगेश पटेल को रिपीट किया गया है। बताया जाता है कि बीजेपी योगेश पटेल का टिकट भी काटने की तैयारी में थी, लेकिन योगेश पटेल के अड़े रहने पर पार्टी को उनको आगे झुकना पड़ा।

योगी आदित्यनाथ को लेकर गुजरातियों में उत्साह

योगी आदित्यनाथ द्वारका में सभा करेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुबह साढ़े 11 बजे द्वारका पहुंचेंगे और फिर द्वारका मंदिर में जाकर पूजा- अर्चना करेंगे। इसके बाद योगी आदित्यनाथ सुबह करीब 12 बजे सतवारा समाज की वाड़ी में एक जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद योगी आदित्यनाथ रापर और फिर मोरबी में जनसभाओं को संबोधित करेंगे। गुजरात में योगी आदित्यनाथ को लेकर खास उत्साह देखने को मिल रहा है। उनकी रैलियों में जबर्दस्त भीड़ देखी जा रही है। वहीं, जब वे मोरबी में पहली सभा के लिए गए थे तो वहां उनका बुलडोजर से स्वागत किया गया था।

1 और 5 दिसंबर को होगा मतदान

राज्य में पहले चरण की वोटिंग 1 दिसंबर को होगी, जबकि दूसरे चरण की वोटिंग 5 दिसंबर को होगी। वहीं, दोनों चरणों की मतगणना 8 दिसंबर को होगी। पहले चरण की वोटिंग प्रक्रिया के लिए गजट नोटिफिकेशन 5 नवंबर को और दूसरे चरण की वोटिंग प्रक्रिया के लिए 10 नवंबर को जारी हुआ था। स्क्रूटनी पहले चरण के लिए 15 नवंबर को होगी जबकि दूसरे चरण के लिए 18 नवंबर की तारीख तय है। नाम वापसी की अंतिम तारीख पहले चरण के लिए 17 नवंबर और दूसरे चरण के लिए 21 नवंबर निर्धारित की गई है।

गुजरात में 24 सालों से है बीजेपी की सत्ता

पिछले 24 साल से गुजरात की सत्ता में भारतीय जनता पार्टी ही काबिज है। यहां हर चुनाव बीजेपी की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ही रही है। लेकिन, इस बार आम आदमी पार्टी की भी एंट्री हो गई है। इससे समीकरण बदलने के आसार भी हैं। पंजाब चुनाव जीतने के बाद आम आदमी पार्टी ने गुजरात में भी पूरी ताकत लगा दी है। ऐसे में मुकाबला त्रिकोणीय हो सकता है।

पिछली बार बीजेपी ने जीती थीं 99 सीटें

गुजरात में विधानसभा कुल सीटों की संख्या 182 है। इसमें 40 सीटें आरक्षित हैं। 27 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए और 13 सीटें अनुसूचित जाति के रिजर्व हैं। विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 92 सीटों का है। 2017 के चुनाव में सत्तारूढ़ बीजेपी मुश्किल से सरकार बचा पाने में सफल रही थी। दो दशक में पहली बार पार्टी की सीटों की संख्या दो अंकों में सिमट गई थी और बीजेपी सिर्फ 99 सीटें जीत सकती थी।

कांग्रेस को 2017 के चुनाव 77 सीटें मिली थीं, जबकि कांग्रेस से गठबंधन करके लड़ी भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) को 2 सीटें मिली और 1 सीट पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) विजयी हुई थी। तीन सीटों पर निर्दलीय जीते थे। इनमें वडगाम से दलित नेता जिग्नेश मेवाणी की कांग्रेस के समर्थन से जीत हुई थी।

Compiled: up18 News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *