आफ़ताब ने कोर्ट में कबूला, गुस्से में आकर कर दी श्रद्धा की हत्या

Regional

बार एंड बेंच के मुताबिक़ दिल्ली के साकेत कोर्ट में मंगलवार को आफ़ताब पूनावाला को वीडियो लिंक के ज़रिए पेश किया गया.

कोर्ट के सामने अपना अपराध कबूलते हुए आफ़ताब ने कहा कि “जो भी मैंने किया, वो गलती से किया. गुस्से में आकर श्रद्धा की हत्या की.”

28 साल के आफ़ताब ने ये भी कहा कि उसके खिलाफ़ जो बातें फैलाई जा रही हैं, वह पूरी तरह सच नहीं हैं. वह अब जांच में पुलिस की पूरी मदद कर रहा है.

कोर्ट मे आफ़ताब ने कहा कि “मैं पुलिस की जांच में मदद कर रहा हूं, मैंने वो जगहें पुलिस को बता दी हैं, जहां शव के टुकड़े फेंके. ”

साकेत कोर्ट ने आफ़ताब पूनावाला की पुलिस हिरासत चार दिन के लिए बढ़ा दी है, इससे पहले वह पांच दिन की पुलिस हिसारत में थे.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ आफ़ताब ने पूछताछ में बताया कि श्रद्धा को मारने में इस्तेमाल की गई आरी और ब्लेड गुरूग्राम के डीएलएफ़ फ़ेज़ तीन की झाड़ियों में फ़ेकी है.

बीते शुक्रवार दिल्ली पुलिस मेटल डिटेक्टर के साथ गुरुग्राम पहुंची थी लेकिन उसे किसी तरह सबूत और अपराध में इस्तेमाल होने वाला हथियार नहीं मिल सका.
आने वाले कुछ दिन इस केस की जांच में अहम बताए जा रहे हैं क्योंकि अब तक पुलिस को अहम सबूत नहीं मिले हैं.

पहले भी होती थी मारपीट

आफ़ताब ने इस साल 18 मई को अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की गला दबाकर हत्या कर दी थी. इसके बाद शव के कई टुकड़े करके दिल्ली में मेहरौली के जंगलों में फेंका.

दोनों की मुलाकात मुंबई में हुई थी और फिर दोनों दिल्ली आकर रह रहे थे. वे एक डेटिंग एप के ज़रिए साल 2018 में मिले.

2019 में श्रद्धा ने अपनी मां को आफ़ताब के बारे में बताया और साथ रहने की इच्छा जताई थी. लेकिन मां ने अलग मज़हब होने की वजह से इंकार कर दिया.

इसके बाद श्रद्धा ने नाराज़ होकर घर छोड़ दिया और आफ़ताब के साथ लिव-इन में रहने लगी.

पुलिस ने बताया कि आफ़ताब ने श्रद्धा की हत्या करने के बाद भी जून तक उसका इंस्टाग्राम अकाउंट इस्तेमाल करता रहा ताकि लोगों को लगे कि श्रद्धा ज़िंदा है. इसके बाद श्रद्धा का फ़ोन फेंक दिया. अब तक पुलिस इस फ़ोन का पता नहीं लगा पाई है.

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि आफ़ताब श्रद्धा के साथ मारपीट करता था और ये बात कई बार श्रद्धा ने अपने दोस्तों को बताई थी.

Compiled: up18 News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *