आगरा: ताज़महल के पास रात में भी खूंखार बंदरों का आतंक, रात को 1 बजे पर्यटक भाई-बहन पर किया हमला

Local News

आगरा: मोहब्बत की निशानी पर इस समय खूंखार बंदरों का आतंक है जो किसी से छुपा नहीं है। दिन में यह खूंखार बंदर पर्यटकों को तो निशाना बनाते हैं तो वहीं रात में भी इस मार्ग से गुजरने वाले पर्यटक हो या फिर आम व्यक्ति को भी नहीं छोड़ रहे हैं।

ताज से पूर्वी गेट मार्ग पर बंदर ही बंदर

शिल्पग्राम से ताजमहल के गेट तक के मार्ग पर रात में दर्जनों बंदर और आवारा स्वानों का डेरा जमा रहता है। मार्ग पर बंदर आराम फरमाते हैं। जैसे ही कोई निकलता है भोजन की तलाश में यहां से गुजरने वाले लोगों पर बंदर हमला कर देते हैं।

रात में पर्यटक पर हमला

गुरुवार रात 1 बजे ताजमहल के पूर्वी गेट पर दर्जनों बंदर और आवारा कुत्तों का कब्जा दिखाई दिया। इसी दौरान शहर घूम कर लौट रहे पर्यटक भाई – बहन इसी मार्ग से गुजरते हुए जा रहे थे, तभी चुपचाप एक बंदर ने उन पर हमला बोल दिया। बंदर के हमले से दोनों भाई बहन बुरी तरह से हम गए। बंदर को भगाने के लिए डंडा उठाया तो बंदर डंडा भी छीन कर भाग गया। यह पूरा घटनाक्रम मोबाइल में कैद हुआ।

घायल पर्यटक भाई – बहन ने बताया कि उनके पिता वन विभाग में कर्मचारी है और ताज नेचर वॉक पर तैनात हैं। वो लोग उनसे मिलने आये थे, यहां शहर घूम कर वापस पिता के कमरे पर जाते समय पूर्वी गेट पर बंदरों ने हमला कर दिया। जब बंदरों को भगाने के लिए डंडा दिखाया तो बंदर डंडा भी छीन ले गए।

पर्यटकों पर हमलावर हुए बंदर

ताजमहल पर आने वाले पर्यटकों पर रोजाना बंदर हमला कर रहे हैं। गुरुवार सुबह बंगाल के एक पर्यटक सलाम को बंदर ने इतना घायल कर दिया कि उसे अस्पताल भेजना पड़ा। बुधवार को स्पेन की पर्यटक क्रिस्टीना को बंदर ने घायल किया था। उससे पहले दक्षिण भारत के पर्यटक रशीद को बंदर ने घायल किया था। इसके अलावा स्पेन की महिला और उसकी बच्ची पर बंदरों ने हमला किया जिसमें महिला घायल हुए और फोटोग्राफरों ने उनका प्राथमिक उपचार किया। उससे पहले दो विदेशी महिला पर्यटकों पर भी बंदर हमला कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.