14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए तीस्ता सीतलवाड़ और आरबी श्रीकुमार

National

गुजरात दंगा मामले में सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ और पूर्व आईपीएस अधिकारी आरबी श्रीकुमार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इससे पहले उन्हें एसआईटी ने अहमदाबाद मेट्रोपॉलिटन कोर्ट में पेश किया। लोक अभियोजक अमित पटेल ने बताया कि पुलिस ने आरोपियों की रिमांड बढ़ाने की मांग नहीं की और कोर्ट ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

लोक अभियोजक ने कहा कि ‘पुलिस ने आज आरोपी की और आगे की रिमांड नहीं मांगी है। पुलिस ने न्यायिक हिरासत की मांग के लिए आवेदन दिया था जिसके बाद कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है।’

सुप्रीम कोर्ट से नरेंद्र मोदी को मिली क्लीन चिट

गौरतलब है कि गुजरात दंगा मामले में एसआईटी ने राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट दे दी थी। नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट दिए जाने के खिलाफ जाकिया जाफरी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। सुप्रीम कोर्ट ने जाकिया की याचिका रद्द कर दी थी। कोर्ट ने टिप्पणी की थी कि तीस्ता सीतलवाड़ गोपनीय तरीके से अपने स्वार्थ के लिए जाकिया जाफरी की भावनाओं का इस्तेमाल कर रही थी।

सीतलवाड़ पर जालसाजी व अन्य धाराओं के तहत केससुप्रीम कोर्ट की ओर से यह टिप्पणी की गई थी कुछ लोग कड़ाही लगातार खौलाते रहना चाहते हैं। इस टिप्पणी को तीस्ता सीतलवाड़ के एनजीओ के संदर्भ में माना जा रहा है। सीतलवाड़ पर जालसाजी, साजिश और अन्य धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई थी।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published.