शिवसेना पूरी तरह मज़बूत, ED के दबाव में पार्टी छोड़ने वाले बाला साहेब के भक्त नहीं हो सकते: संजय राउत

Politics

शिवसेना के सांसद संजय राउत ने दावा किया है कि उनकी पार्टी आज भी पूरी तरह मज़बूत है. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए दावा किया, “आज भी हमारी पार्टी मज़बूत है. किस हालात और किस दबाव में उन लोगों ने हमारा साथ छोड़ा उसका खुलासा जल्द होगा.”
संजय राउत ने दावा किया कि क़रीब 20 विधायक उनके संपर्क में हैं और जब वे मुंबई आएँगे तब इसकी जानकारी सामने आएगी.

उन्होंने तंज़ किया कि जो लोग प्रवर्तन निदेशालय के दबाव में पार्टी छोड़ते हैं, वह बाला साहेब को मानने वाले नहीं हो सकते. संजय राउत ने कहा, “ईडी की जाँच के दबाव में पार्टी छोड़ने वाले बाला साहेब के भक्त नहीं हो सकते.”

उन्होंने कहा, “हम असल में बाला साहेब के भक्त हैं. हमारे ऊपर भी प्रवर्तन निदेशालय का दबाव है लेकिन हम उद्धव ठाकरे के साथ खड़े रहेंगे.” शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने एकबार फिर फ़्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करने का दावा किया.

उन्होंने कहा कि हम लड़ने वाले लोग हैं और अंत में सत्य की जीत होगी. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर विश्वास प्रस्ताव पेश किया जाता है तो हम बहुमत साबित करेंगे.

एकनाथ शिंदे को मिला चार और विधायकों का साथ

शिवसेना नेता एकनाथ शिंदें के नेतृत्व में क़रीब 30-35 विधायक गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में ठहरे हुए हैं. इस बीच चार और विधायक बुधवार देर रात होटल पहुँच गए. दूसरी तरफ उद्धव ठाकरे अपना सरकारी आवास ‘वर्षा’ छोड़कर मातोश्री चले गए हैं.

शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे के विद्रोह के बाद पहली बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बुधवार को लोगों से बात की.

उद्धव ठाकरे ने कहा, “लोग कह रहे थे कि मुख्यमंत्री मिलते नहीं हैं. शिवसेना कौन चला रहा है. मेरा ऑपरेशन हुआ था, इस वजह से मैं लोगों से मिल नहीं पाया. वो समय काफ़ी मुश्किल था. मैं हॉस्पिटल से ऑनलाइन काम कर रहा था. शिवसेना और हिंदुत्व एक दूसरे से जुड़े हुए शब्द हैं. शिवसेना हिंदुत्व से दूर नहीं हो सकती, क्योंकि शिवसेना प्रमुख ने मंत्र दिया है कि हिंदुत्व हमारी सांस है.”

उन्होंने कहा, “एकनाथ शिंदे को सूरत जाकर बात करने की क्या ज़रूरत थी. कुछ विधायक यहाँ नहीं हैं. कुछ लोग फ़ोन कर रहे हैं कि वे लौटना चाहते हैं. मैंने हमेशा अपनी ज़िम्मेदारियों को निभाया है. मैं सीएम पद छोड़ने के लिए तैयार हूँ, लेकिन मेरे बाद कोई शिवसैनिक मुख्यमंत्री बने तो मुझे ख़ुशी होगी. लापता विधायक यहाँ आएँ और मेरे त्यागपत्र के साथ राजभवन जाएँ.”

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.