गुजरात मॉडल पर राहुल गांधी ने साधा निशाना, कहा- जो काम नहीं करते उन्हें भाजपा में भेजें

Politics

राहुल गांधी ने कहा कि पिछली बार जब मैं द्वारिका आया था, तब मैंने कहा था कि मुश्किल लड़ाई है. कार्यकर्ताओं से पूछा भी था कि कितनी सीटें आएंगी. जवाब मिला था कि 40 से 45 सीट मिलेंगी. चुनाव का रिजल्ट आया तो पार्टी मात्र 7 सीटों से चुनाव हार गई.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुजरात कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं को इस साल के आखिर में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए जीत का मंत्र दिया है. राहुल गांधी शनिवार को द्वारिका के दौरे पर थे. यहां उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि लड़ाई खत्म होने से पहले हार कभी नहीं माननी चाहिए. 10 दिसंबर से पहले कोई भी कांग्रेस का नेता या कार्यकर्ता हार नहीं मानेगा.

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी गुजरात से पैदा हुई है. जब पार्टी अस्तित्व में आई थी तब देश के हर राज्य में कांग्रेस पार्टी थी. कांग्रेस की विचारधारा एक गुजराती ने दी थी. उन्होंने कहा कि उस वक्त पार्टी में नहेरुजी थे, सरदार पटेल थे, सुभाष चंद्र बोस थे. पार्टी की स्ट्रैटजी गांधीजी की थी.

उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि उन्हें देखिए, उनके हाथ में सीबीआई है, ईडी है, लेकिन हमारे पास सच्चाई है. ऐसी सच्चाई जो गांधीजी में थी, बहुत ही सिंपल. राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात में गांधीजी ने सिर्फ कांग्रेस को नहीं, बल्कि प्रदेश के लोगों को भी रास्ता दिखाया. कांग्रेस पार्टी में जो सोच है, वो गुजरात के लोगों को भी नहीं पता कि आपने इसे कहां-कहां पहुंचाया.

राहुल गांधी ने सुनाया 1990 का किस्सा

राहुल गांधी ने कहा कि 1990 में जब मैं 20 साल का था. मैंने नेल्सन मंडेला से पूछा कि जब आप जेल में थे तब मायूस नहीं थे? उन्होंने कहा कि मैं जेल में अकेला नहीं था, मेरे साथ गांधीजी थे.

राहुल ने कार्यकर्ताओं से कहा कि आप ये मान के चलो कि पिछला चुनाव आपने जीता था. राहुल ने कहा कि मैं भी यहां पिछले 25 साल से होता तो बीजेपी के सामने खुद को कमजोर देखता लेकिन मैं बाहर से आया हूं, मैं एक ऑब्ज़र्वर की तरह कह रहा हूं कि आप चुनाव जीत चुके हैं.

गुजरात मॉडल पर राहुल गांधी ने साधा निशाना

राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात में कोरोना में 3 लाख लोगों की मौत हुई. इनमें किसी का भाई होगा, तो किसी के पिता और किसी की बहन. राहुल ने कहा कि बीजेपी गुजरात मॉडल का उदाहरण देती है, लेकिन गुजरात मॉडल में कोरोना के दौरान लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिला. सड़कों पर लोग मर रहे थे. उन्होने कहा कि बीजेपी जिस तरह की राजनीति गुजरात में कर रही है, उससे यहां के लोगों का नुकसान हो रहा है.

उन्होंने कहा कि गुजरात में बेरोजगारी है. यहां की स्ट्रेन्थ यहां का बिजनेस था. लोग छोटे और मध्यम बिजनेस करते थे, जिसे मोदी सरकार ने खत्म कर दिया. राहुल गांधी ने कहा कि जीएसटी और नोटबंदी के बाद कोरोना ने गुजरात के लोगों को तोड़कर रख दिया. उन्होंने कहा कि तीन-चार लोग मिलकर गुजरात चलाते हैं. पूरा पावर सेंट्रलाइज कर दिया गया है.

गुजरात के लोगों को कांग्रेस के बारे में समझाना होगा: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि जब गुजरात की जनता कांग्रेस की ओर देखती है तो वे ये नहीं देख पाती कि कांग्रेस क्या करना चाहती है, कैसे करेगी और कौन करेगा, ये सब बातें गुजरात के लोगों को समझाना होगा.

राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि आप में से 25 लोग मन बना लो कि भाजपा को गुजरात से उखाड़ फेकेंगे. उन्होंने कहा कि पार्टी में कुछ ही लोग हैं जो काम कर रहे हैं, जो काम नहीं कर रहे हैं, उन्हें साइड कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि पार्टी के कुछ लोग एसी में बैठकर काम करते हैं, अगर वे काम नहीं करते हैं तो उन्हें भाजपा में भेज दिया जाना चाहिए.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी का संगठन छोटा और मध्यम स्केल का है, लेकिन सबसे मजबूत है. उसे आगे बढ़ाना है. उन्होंने कहा कि दुनियाभर में रह रहे गुजराती देख रहे हैं कि यहां क्या हो रहा है. आपको (कांग्रेस कार्यकर्ता) गुजरात के लिए नया विजन बनाना होगा. आपको सत्ता ऐसे नहीं मिलेगी. इसके लिए आपलोगों को प्लानिंग करनी होगी.

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *