आगरा: दिव्यांग बच्चों के लिए जरूरी है शिक्षा, जरूर भेजें स्कूल, ताकि बन सकें आत्मनिर्भर

Press Release

आगरा: दिव्यांगों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए शिक्षा विभाग की ओर से विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत दिव्यांग बच्चों के अभिभावकों की काउंसलिंग की जा रही है। ताकि वे बच्चे को स्कूल भेजें। शुक्रवार को छीपीटोला स्थित प्राथमिक विद्यालय में दिव्यांगों के अभिभावकों की काउंसलिंग के लिए शिविर लगाया गया। इसमें केबीसी विजेता दिव्यांग हिमानी बुंदेला मुख्य अतिथि रहीं। उन्होंने दिव्यांग बच्चों के अभिभावकों से बात की। उन्हें शिक्षा का महत्व बताया। बताया कि दिव्यांग बच्चों के लिए शिक्षा कितनी जरूरी है।

जनपद में चलाया जा रहा है अभियान

शिक्षा विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, ये अभियान पूरे जनपद में चलाया जा रहा है। अभियान का मुख्य उद्देश्य जिले के सभी दिव्यांग बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ना है। ये बच्चे शिक्षित बनेंगे तो आत्मनिर्भर होंगे। अधिकारियों का कहना है कि कुछ अभिभावक दिव्यांग बच्चों को स्कूल भेजते ही नहीं हैं क्योंकि उन्हें लाने और ले जाने और अन्य कई प्रकार की समस्याएं सामने आती हैं। वे उन समस्याओं से बचना चाहते हैं। अभिभावकों की काउंसलिंग की जा रही है ताकि अभिभावक अपने दिव्यांग बच्चों को भी शिक्षा ग्रहण करने के लिए स्कूल भेजें।

दिव्यांगता कोई अभिशाप नहीं है

दिव्यांग हिमानी बुंदेला ने अभिभावकों की काउंसलिंग करते हुए उन्हें समझाया कि दिव्यांगता कोई अभिशाप नहीं है। इसे स्वीकार करना चाहिए। इसके साथ ही अपने बच्चों को शिक्षित बनाकर उन्हें दिव्यांगता के डर से दूर करना चाहिए।

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.