वीडियो बनाकर रख दिया है, मुझे कुछ हुआ तो सच्‍चाई आ जाएगी सामने: इमरान ख़ान

INTERNATIONAL

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ के चेयरमैन इमरान ख़ान ने कहा है कि देश में सत्ता परिवर्तन की साज़िश को लेकर अब तक मैं चुप रहा हूँ ताकि मुल्क का नुक़सान ना हो. इमरान ख़ान ने कहा कि उन्हें सब कुछ पता है कि किसने क्या साज़िश की लेकिन वह चुप हैं.

इसी साल अप्रैल महीने में इमरान ख़ान सत्ता से बेदख़ल हो गए थे. संसद में विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव में इमरान ख़ान हार गए थे लेकिन उनका कहना है कि अमेरिका की साज़िश के कारण उन्हें सत्ता से हटाया गया है.

मंगलवार को एक वीडियो संदेश में इमरान ख़ान ने कहा, ”मैं चुप हूँ क्योंकि कौम और मुल्क का नुक़सान नहीं चाहता. मुझे सब कुछ पता है कि किसने क्या किया. मैंने एक वीडियो बनाकर सुरक्षित जगह पर रखा है कि अगर मुझे कुछ होता है तो लोगों को पता चले कि सच्चाई क्या है. कौन-कौन किरदार शामिल हैं और किसने क्या-क्या किया है, सब लोगों को पता चले. इस मुल्क से किसने कितनी बड़ी ग़द्दारी की है, सब पता चले. मैं अभी मजबूर हूँ, इसलिए नहीं बोल रहा हूँ लेकिन बोलूंगा.”

इमरान ख़ान ने कहा, ”ये जो पंजाब उपचुनाव में किया जा रहा है क्या किसी को नहीं दिख रहा है. हर जगह से आवाज़ें आ रही हैं कि चुनाव में धांधली हो रही है. हमजा शरीफ़ पर अदालत फ़ैसला क्यों नहीं कर रही है. मेरे मामले में तो रातों-रात फ़ैसला हो गया. चुनाव आयोग और प्रशासन क्या ऐसे काम करेंगे? चुनाव कराने का क्या यही तरीक़ा है. सिंध का जो स्थानीय निकाय का चुनाव हुआ है, केवल उसी की जाँच कर ली जाए कि वहाँ क्या हुआ है तो सच्चाई सामने आ जाएगी. 15 फ़ीसदी लोग चुनाव में खड़े ही नहीं हुए. पता तो चले कि कैसे पुलिस का इस्तेमाल कर एफ़आईआर कराई गई है.”

इमरान ख़ान ने कहा, ”क्या यही लोकतंत्र है. पहले साज़िश की तहत मेरी सरकार हटाई गई फिर चोरों को सत्ता दे दी गई. सारे इंस्टिट्यूशन को तबाह कर दिया गया है. हम फासीवाद की ओर बढ़ रहे हैं. मेरा कौम से अनुरोध है कि अगर हम ख़ौफ़ के सामने झुक गए तो याद रखें यो दोनों पार्टियां 30 सालों से सत्ता में है और इन्होंने क्या किया है, ये सबको पता है.”

इमरान ख़ान ने कहा, ”हिन्दुस्तान हमसे आगे निकल गया. बांग्लादेश भी हमसे आगे निकल गया. कोई सोच भी नहीं सकता था कि बांग्लादेश पाकिस्तान से आगे निकल जाएगा. ऐसा दोनों परिवारों के कारण है. पंजाब के अंदर जो उपचुनाव हो रहा है, उसे जिहाद की तरह लें और धांधली के बावजूद हमें चुनाव में जीत हासिल करनी है. आसिफ़ ज़रदारी ऐसे घूम रहा है,. जैसे मुल्क का बादशाह है. शहबाज़ शरीफ़ और हमजा शरीफ़ ने 16 अरब रुपए का घपला किया है. लंदन के सबसे महंगे इलाक़े में मरियम के परिवार के नाम पर चार महंगे अपार्टमेंट हैं. यह बदकिस्मती है, हमारे मुल्क की.”

अमेरिकी साज़िश

इमरान ख़ान ने पाकिस्तानियों से अपील की है कि अब ख़ौफ़ के ख़िलाफ़ खड़ा होना होगा और पंजाब में उपचुनाव किसी भी सूरत में जीतना होगा.

इमरान ख़ान ने कहा, ”पाँच जुलाई को पाकिस्तान में मार्शल लॉ लगा था. अमेरिका ज़ुल्फिकार अली भुट्टो की सरकार से ख़ुश नहीं था. तब पाकिस्तान को आज़ाद विदेश नीति की तरफ़ ले जाने की कोशिश की जा रही थी. तब पाकिस्तानी लोकतंत्र को बड़ा नुक़सान हुआ. एक बार फिर 1977 के बाद ऐसा ही हुआ. इस बार भी पाकिस्तान की विदेश नीति से अमेरिका ख़ुश नहीं था. वे सोचते थे कि एक फ़ोन आए और पाकिस्तान उनके पीछे-पीछे जाकर लड़ने लगे. मैंने उनकी नहीं सुनी और सरकार गिरा दी गई.”

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, ”ज़रदारी को मिस्टर 10 पर्सेंट कहा जाता है और नवाज़ शरीफ़ पर भ्रष्टाचार को लेकर फ़िल्म ही बनी हुई है. हमें गिराने की कोशिश इसलिए भी थी कि दूसरी बार भी ये चोरी से बच जाएं. ये कौम को कहकर आए थे कि महंगाई कम करेंगे लेकिन महंगाई के सारे रिकॉर्ड टूट गए. सरकार के सर्वे में बताया गया है कि आर्थिक गतिविधियां बिल्कुल सही ट्रैक पर थीं. इंडस्ट्री भी बढ़ रही थी. रोज़गार भी बढ़ रहा था. उस वक़्त इन लोगों ने यह साज़िश की.”

इमरान ख़ान ने कहा, ”जो भी साज़िश में शामिल हैं उन्हें सोचना होगा कि कौम कबूल नहीं कर रही है. जब नज़रिया पैसा हो तो इसके लिए कुछ भी क़ुर्बान कर सकते हैं. इनको मौक़ा मिले तो इसराइल को भी स्वीकार कर लेंगे और कश्मीर को दांव पर लगाकर हिन्दुस्तान से भी दोस्ती कर लेंगे. ये अमेरिका को नाराज़ करने के दम पर रूस से तेल भी नहीं लेंगे. मैंने पाकिस्तान में इस तरह का ख़ौफ़ कभी नहीं देखा.”

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published.