एक खोया हुआ महाद्वीप जीलैंडिया: जो डूबा है 3800 फीट की गहराई में

Cover Story

बचपन से ही हम भूगोल या फिर सामान्य ज्ञान की किताबों में धरती पर मौजूद महाद्वीपों के बारे में पढ़ते आ रहे हैं, जिसमें बताया गया है कि दुनिया में कुल सात महाद्वीप हैं।

लेकिन क्या आपको पता है कि इनके अलावा भी धरती पर एक और महाद्वीप है, जिसे खोया हुआ महाद्वीप कहा जाता है। इसका नाम है जीलैंडिया। इस महाद्वीप का अधिकांश भाग दक्षिण प्रशांत महासागर के नीचे डूबा हुआ है और वो भी करीब 3800 फीट की गहराई में। वैज्ञानिक अभी भी इसके रहस्यों से पर्दा उठाने की कोशिश में लगे हुए हैं।

वैज्ञानिकों के मुताबिक जीलैंडिया कभी विशाल गोंडवाना महाद्वीप का हिस्सा था और करीब 75 करोड़ साल पहले उससे अलग हो गया था। हालांकि इसका एक छोटा सा हिस्सा डूबने से बच गया था, जो आज के समय में न्यूजीलैंड है।

वैज्ञानिकों के मुताबिक इस खोये हुए महाद्वीप का क्षेत्रफल करीब 43 लाख वर्ग किलोमीटर तक रहा होगा। यह महाद्वीप न्यूजीलैंड के दक्षिण से न्यू कैलेडोनिया के उत्तर तक और पश्चिम में ऑस्ट्रेलिया के केन पठार तक फैला हुआ है। शोधकर्ताओं ने कुछ साल पहले इस नए महाद्वीप का नक्शा भी बनाया था।

इस नए और खोये हुए महाद्वीप को लेकर वैज्ञानिक साल 1995 से ही शोध कर रहे थे और आखिरकार 2017 में उनकी खोज पूरी हुई थी।

शोधकर्ताओं के मुताबिक यह धरती के अन्य महाद्वीपों के लिए लागू सभी मानदंडों को पूरा करता है। इसी वजह से इसे आठवां महाद्वीप माना जाता है।

शोधकर्ताओं के मुताबिक जीलैंडिया का अपना भूशास्त्र है और इसका तल, समुद्री तल से कहीं ज्यादा मोटा और कठोर है। हालांकि इस महाद्वीप से जुड़े कई रहस्य अभी भी अनसुलझे ही हैं, जैसे कि यह कैसे बना था और फिर टूटा कैसे था। इसको लेकर लगातार शोध जारी हैं।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published.