सोशल मीडिया इन्फ़्लूएंसर्स के लिए नए दिशा-निर्देश जारी, उल्लंघन पर सख्‍त कार्रवाई

Business

इस नियम का उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी और एंडोर्समेंट करने पर बैन भी लग सकता है. ये कार्रवाई कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 2019 के तहत होगी.

इस कानून के तहत उत्पादकों, विज्ञापनदाताओं और प्रचारकों पर 10 लाख रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान है. लगातार दोषी पाए जाने पर ये जुर्माना बढ़कर 50 लाख रुपये तक किया जा सकता है. किसी भ्रामक जानकारी या उत्पाद को एंडोर्स करते पाए जाने पर 1 से 3 साल तक प्रतिबंध लगाया जा सकता है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार नए दिशानिर्देश भ्रामक विज्ञापनों पर नकेल कसने के लिए जारी लगातार प्रयासों के तहत जारी किया गया है.

नए दिशा-निर्देशों को जारी करते हुए कंज्यूमर अफ़ेयर्स सेक्रटरी रोहित कुमार सिंह ने कहा कि भारत में सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स का बाज़ार 1,275 करोड़ रुपये का है जो 2025 तक बढ़कर 2800 करोड़ रुपये होने का अनुमान है.

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स के बढ़ते बाज़ार को देखते हुए ये ज़रूरी हो जाता है कि वो ज़िम्मेदारीपूर्वक व्यवहार करें.

Compiled: up18 News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *