राहुल गांधी को लिया गया “हिरासत” में, दिल्ली में सियासी बवाल जारी, विरोध में सड़कों पर बैठे कांग्रेसी सांसद

Politics

राजधानी दिल्ली में महंगाई के खिलाफ राष्ट्रपति भवन तक मार्च कर रहे कांग्रेस सांसदों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। राहुल गांधी, अधीर रंजन चौधरी, दिग्विजय सिंह और गौरव गोगोई समेत तमाम सांसदों को हिरासत में ले लिया गया है। इसके बाद कांग्रेसी सांसद सड़क पर ही धरने पर बैठ गए हैं।

राजपथ के नजदीक प्रदर्शन कर रहे राहुल गांधी ने कहा है कि, पुलिस ने कांग्रेस सांसदों को घसीटा है और कुछ लोगों को मारा भी है। आप सभी देख रहे हैं कि लोकतंत्र की हत्या हो रही है। ये लोग महंगाई पर प्रदर्शन नहीं करने दे रहे हैं।

राजधानी दिल्ली में संसद, राष्ट्रपति भवन के बाहर और विजय चौक पर जबरदस्त सियासी गहमागहमी बनी हुई है। कांग्रेस आज देशभर में केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है। राजधानी दिल्ली में आज सुबह करीब 10 बजे कांग्रेस के इस विरोध प्रदर्शन की शुरुआत राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस से हुई। राहुल गांधी ने कहा, आज देश में लोकतंत्र नहीं है। सिर्फ तानाशाही है। हम महंगाई का मुद्दा उठाते हैं। हमें संसद में बोलने नहीं दिया जाता। बाहर प्रदर्शन करने पर गिरफ्तार कर लिया जाता है।

राहुल गांधी ने कहा, 70 साल में देश बना, लेकिन बीजेपी ने 8 साल में इसे खत्म कर दिया। चाहें बेरोजगारी, हिंसा और महंगाई का मुद्दा हो, सरकार का सिर्फ यही एजेंडा है, कि इन मुद्दों का न उठाया जाए। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान राहुल गांधी अपने हाथ पर काली पट्टी बांधे हुए थे। ‌केंद्र के खिलाफ विरोध जताने के लिए सोनिया, राहुल समेत कांग्रेस के सभी सांसद सदन में काले कपड़े पहनकर पहुंचे और जमकर नारेबाजी की।

नेताओं का कहना है कि वो इसे लेकर प्रदर्शन करेंगे और अपनी गिरफ्तारी देंगे। दिल्ली में कांग्रेस ने पीएम आवास और राष्ट्रपति भवन के घेराव का एलान किया है। जिसके बाद इन इलाकों में धारा 144 लगा दी गई है। राष्ट्रपति भवन के पास कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है। राजधानी में आज सियासी पारा पारा चढ़ा हुआ है। पूरे देश भर से कांग्रेस के दिग्गज नेताओं का जमावड़ा है। सड़क से लेकर संसद तक कांग्रेस नेता और हजारों की संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन करने में लगे हुए हैं। कांग्रेश क प्रदर्शन को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.