Agra News: नगर निगम प्रशासन ने वीआईपी रूट पर कराई धार्मिक स्थलों की वॉल पेंटिंग, सिख समाज ने किया विरोध

Local News

आगरा: जी-20 समिट सम्मेलन में भाग लेने के लिए आगरा आने वाले मेहमानों के स्वागत सत्कार के लिए आगरा पूरी तरह से तैयार हो रहा है। वीआईपी रूट पर पर जगह-जगह पर वॉल पेंटिंग भी की जा रही है। नगर निगम के द्वारा इस वॉल पेंटिंग को संपन्न कराया जा रहा है लेकिन नगर निगम ने वॉल पेंटिंग के लिए कुछ ऐसी जगह चुन ली है जो धार्मिक स्थलों के चित्र बनाने के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है लेकिन फिर भी इन वॉल पर धार्मिक स्थलों की पेंटिंग कराई जा रही है जो लोगों को रास नहीं आ रहे हैं। लोगों ने इसका विरोध करना भी शुरू कर दिया है।

सिख समाज ने किया विरोध

वीआईपी रूट पर ईदगाह बस स्टैंड की कार्यशाला और सेवा प्रबंधक कार्यालय है। रोडवेज विभाग की इस रूट पर काफी लंबी दीवार है। जी-20 के चलते इस दीवार को सुंदर स्वच्छ और आकर्षित बनाया जा रहा है। दीवार के एक हिस्से पर ऐतिहासिक स्मारक बनाए गए हैं तो दूसरी ओर शहर के प्रमुख धार्मिक स्थल के स्वरूप की पेंटिंग की जा रही है। इसी दीवार पर गुरुद्वारा गुरु के ताल की भी पेंटिंग बनाई गई थी।

सुबह लोगों ने देखा कि यहां लोग थूक कर जा रहे हैं कईयों ने तो पेशाब तक कर दिया। बस इसी से सिख समाज नाराज हो गया। शाम को सिख समाज के युवा संगठन ने रोडवेज विभाग की दीवार पर बनी गुरुद्वारा गुरु के ताल की पेंटिंग को पेंट से रंग दिया और अपनी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि जिस दीवार पर लोग थूक कर जा रहे हैं नाली को देखकर पेशाब कर रहे हैं, वहां पर धार्मिक स्थल की पेंटिंग कैसे बन सकती है और यह कहां तक ठीक है।

किसी भी धर्म के धार्मिक स्थल की नहीं बननी चाहिए पेंटिंग

सिख यूथ फेडरेशन के पदाधिकारियों का कहना था कि वह सिर्फ इस वजह से नाराज नहीं है कि यहां पर गुरुद्वारा गुरु के ताल की पेंटिंग बनाई गई बल्कि वह इसका भी विरोध करते हैं कि नाले के सहारे जो दीवार है जिस पर लोग अक्सर गंदगी करते हैं, वहां पर किसी भी धार्मिक स्थल की पेंटिंग नहीं होनी चाहिए। अगर आपको इस दीवार को सुंदर और आकर्षण का केंद्र बनाना है तो धार्मिक स्थलों की पेंटिंग छोड़कर कुछ और भी बना सकते हैं।

कैबिनेट मंत्री के पुत्र रहे मौजूद

सिख समाज की यूथ संगठन द्वारा जब इस बात का विरोध किया गया उस समय कैबिनेट मंत्री के पुत्र भी मौजूद थे। उन्होंने भी इस पर अपनी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने तो इस मुद्दे को लेकर नगर आयुक्त निखिल टीकाराम से फोन पर वार्ता की और नाले के सहारे जो दीवार है उस पर धार्मिक स्थलों की पेंटिंग ना कराने को कहा तो नगर आयुक्त ने कहा कि उन्होंने इसके लिए पहले ही आदेशित कर दिया है। कल इस पूरे मामले की जांच पड़ताल करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *