चीन ने ताइवान सीमा के पास मिसाइलें दागीं, तो अमेरिका ने भेजा युद्धपोत

INTERNATIONAL

चीन की कार्रवाई के बाद अमेरिकी सेना ने ताइवान के दक्षिणपूर्व समुद्र में अपना युद्धपोत यूएसएस रोनाल्ड रीगन भेगा है.

नौसेना के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, “यूएसएस रोनाल्ड रीगन और उसके स्ट्राइक ग्रुप फ़िलीपिंस के समुद्र में एक स्वतंत्र और खुले इंडो-पैसिफिक के समर्थन में नियमित पेट्रोल और सामान्य निर्धारित ऑपरेशन कर रहे हैं.”

मिलिट्री फ़ोर्स समस्या का हल नहीं: ताइवान

ताइवान के मेनलैंड अफ़ेयर्स काउंसिल ने कहा कि मिलिट्री फ़ोर्स समस्या का हल नहीं हैं. उन्होंने कहा कि सैन्य अभ्यासों से ये तथ्य नहीं बदलेगा कि दोनों पक्ष एक दूसरे के साथ नहीं रह सकते.

इस बीच चीन और जापान के बीच होने वाली जी-7 की एक बैठक भी रद्द कर दी गई है.

चीन के कार्रवाई के कारण ताइवान आने-जाने वाले 50 विमानों को रद्द कर दिया गया है. इसमें 26 ताओयान एयरपोर्ट से आने और 25 वहाँ से जाने वाले विमान शामिल हैं.

पिछले दिनों चीन की चेतावनी के बावजूद नैंसी पेलोसी ने ताइवान की यात्रा की थी. चीन अपने वन चाइना नीति के तहत ताइवान को अपना हिस्सा मानता है. लेकिन ताइवान अपने को एक स्वतंत्र देश मानता है.

चीन ने पेलोसी की यात्रा के बाद गंभीर परिणामों की चेतावनी दी है. उसने ताइवान की सीमा के पास सैनिक अभ्यास भी शुरू किया है. चीन के कई जेट विमान लगातार ताइवान की वायु सीमा में भी घुस रहे हैं.

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.