सबसे अनोखा होने जा रहा है कतर में आयोजित फ़ीफ़ा वर्ल्ड कप टूर्नामेंट

SPORTS

वे कौन सी चीज़ें हैं जिससे ये अनोखा होने जा रहा है?
क़तर वर्ल्ड कप 2022: क्या ‘भव्य आयोजन’ उठ रहे सवालों को पीछे छोड़ देगा?

हर दिन अधिक मैच

यह 1978 के अर्जेंटीना वर्ल्ड कप के बाद अब तक का सबसे कम अवधि वाला टूर्नामेंट होगा, यानी खेल शुरू होने से लेकर ख़त्म होने तक (20 नवंबर से 18 दिसम्बर) सिर्फ 29 दिन का.

इसका मतलब ये हुआ कि आयोजकों को ग्रुप स्टेज के अधिकांश दिनों में हर दिन चार मैच आयोजित करने होंगे- 10ः00, 13ः00, 16ः00 और 19ः00 जीएमटी.
अधिकांश वर्ड कप में हर दिन तीन मैच होते रहे हैं.

ग्रुप स्टेज और लास्ट सिक्सटीन के बीच कोई गैप भी नहीं है क्योंकि ग्रुप स्टेज के अगले दिन ही नॉकआउट राउंड शुरू हो जाएगा.

अधिकतम दूरी वाले दो स्टेडियमों, दोहा के उत्तर में अल बायत स्टेडियम से राजधानी के दक्षिण में स्थित अल जैनब स्टेडियम के बीच की दूरी क़रीब 64 किलोमीटर है.
ये दूरी तय करने में बिना ट्रैफ़िक के 50 मिनट लगते हैं.

डिस्पोज़िबल स्टेडियम

इस टूर्नामेंट के लिए तैयार आठ स्डेडियमों में से सात को नींव से बनाया गया है. सात स्टेडियमों में टूर्नामेंट के बाद कुर्सियां हटा दी जाएंगी और स्टेडियम 974 को पूरी तरह धराशायी दिया जाएगा, जिसे शिपिंग कंटेनरों से बनाया गया है.

टूर्नामेंट के बाद फ़ुटबॉल टीम के लिए सिर्फ एक स्टेडियम अहम बिन अली स्टेडियम का अल रायन रह जाएगा.  फ़ाइनल मैच के बाद दो लाख कुर्सियों को हटा दिया जाएगा और आयोजकों का कहना है कि इसे विकासशील देशों को दे दिया जाएगा.

ठहरने के इंतज़ाम की कमी

एक ऐसा देश जो आबादी या आकार के मामले में दुनिया के 100 शहरों में भी शामिल नहीं है, फिर भी क़तर उस तरह के रहने की व्यवस्था नहीं कर सकता जो आम तौर पर वर्ल्ड कप में देखा जाता है.

मार्च तक देश में केवल 30,000 होटल रूम थे जबकि आधिकारिक आंकड़ें बताते हैं कि इस टूर्नामेंट के लिए पूरी दुनिया से क़रीब 15 लाख लोग आ रहे हैं.

आयोजकों को उम्मीद है कि वे एक लाख 30,000 कमरों की व्यवस्था कर पाएंगे. इसमें फैंस विलेज़ेज, टेंट और मेटल केबिन में 9,000 बिस्तर, अपार्टमेंट और विला में 60,000 कमरे, होटलों में 50,000 कमरे और टूर्नामेंट के दौरान तट पर रोके गए दो क्रूज़ पोतों में 4,000 कमरे शामिल हैं.  इसका मतलब ये हुआ कि कुछ खेल प्रशंसकों को ओमान, सउदी अरब और यूएई जैसे पड़ोसी देशों में ठहरना पड़ेगा और फ़्लाइट पकड़ कर खेल देखने आना होगा.

ओमान मस्कट से दोहा के बीच हर रोज़ 24 विशेष उड़ानें और फ़्री वीज़ा का ऑफ़र भी दे रहा है.

बड़े पैमाने पर नई आधारभूत संरचनाएं

इस टूर्नामेंट की मेज़बानी के लिए क़तर ने बड़ी संख्या में आधारभूत संरचनाओं का निर्माण कराया है. स्टेडियमों के अलावा 100 नए होटल बनाए गए हैं और नई सड़कें और एक मेट्रो का निर्माण किया गया है.

लुसैल में आखिरी स्टेडियम के चारो ओर एक नया शहर ही बनाया जा रहा है. स्टेडियमों और ट्रेनिंग सेंटरों का अकेले ही बजट 5.3 अरब पाउंड (क़रीब 48,816 अरब रुपये) है.

बड़ी संख्या में टिकटों की बिक्री

रहने की पर्याप्त व्यवस्था न होने के बावजूद अक्टूबर तक 28.9 लाख टिकटों की बिक्री हो चुकी थी. इसका मतलब है कि अब तक किसी भी वर्ल्डकप के लिहाज से ये सबसे भीड़भाड़ वाला होने जा रहा है.

कितनी बीयर का इंतज़ाम?

क़तर में एक बीयर की क़ीमत 10 से 15 पाउंड (करीब एक हज़ार से 1500 रुपये) है. हालांकि बहुत सारी पाबंदियां हैं कि आप कहां से खरीद सकते हैं.

आम तौर पर क़तर में लाइसेंस रखने वाले होटल, बार और रेस्तरां में बीयर सहज उपलब्ध है. हालांकि वर्ल्ड कप के दौरान फ़ैन ज़ोन और स्डेडियम के बाहरी मैदानों में बीयर बिकेगी.

फ़ैन ज़ोन 500 एमएल बीयर की क़ीमत कथित तौर पर क़रीब 1125 रुपये पड़ेगी. इन निश्चित जगहों के बाहर शराब पीने पर छह महीने की सज़ा या 700 पाउंड (67,934 रुपये) का ज़ुर्माना हो सकता है.

टूर्नामेंट में कार्बन उत्सर्जन

टूर्नामेंट के दौरान 36 लाख टन कार्बन डाई ऑक्साइड का उत्सर्जन होगा. रूस में यह 21 लाख टन था.

Compiled: up18 News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *