आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी से चोरी की कीमती किताबें बरामद, स्विपिंग मशीन भी मिली

Regional

इस मामले में 2019 में FIR की गई थी। मदरसा आलिया लाइब्रेरी की स्थापना 1774 में नवाब रामपुर ने की थी, जिसे राजकीय ओरिएंटल कॉलेज के नाम से भी जाना जाता था। इनकी बरामदगी के बाद पुलिस अब दोनों आरोपियों की पुलिस रिमांड बढ़ाने के लिए एक बार फिर न्यायालय का रुख कर रही है।

रामपुर पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने कबूला कि यूनिवर्सिटी प्रशासन की शह पर किताबें चुराई गई थी और इन्हीं की शह पर छुपाया गया था जो उस दौरान कर्मचारी थे, सभी मुल्जिम बनेंगे, इनकी पीसीआर अप्लाई कर रहे हैं फिर पीसीआर पर लेकर और चीजें बरामद करेंगे।

आजम और उनके बेटे के करीब हैं अनवर और सालिम

इससे पहले पुलिस ने कैंपस में खुदाई करके ऑटोमेटिक स्विपिंग मशीन बरामद की थी। मशीन कैंपस में गड्ढा खोदकर दबाई गई थी। मशीन नगर पालिका परिषद सदर की बताई जा रही है। अनवर और सालिम, आजम खान और उनके बेटे के करीबी हैं। लगातार दूसरे दिन पुलिस के हाथ पुख्ता सुबूत लगने से आजम की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं।

प्रिंसिपल ने कहा था, किताबें यूनिवर्सिटी में मिल सकती हैं

रामपुर पुलिस ने अनवर और सालिम को 4 दिन पहले गिरफ्तार किया था। पुलिस पूछताछ में दोनों ने काफी खुलासे किए हैं। इसी कड़ी में बीते दिन मदरसा आलिया के प्रधानाचार्य ने पुलिस को सूचना दी थी कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों से अगर इंटर कॉलेज से चोरी गई किताबों के बारे में पूछा जाए तो किताबी मिल सकती हैं।
इसी सूचना पर पुलिस ने जब गिरफ्तार किए गए अनवर और सालिम से सख्ती से पूछताछ कि तो उन्होंने मौलाना मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के म्यूजियम की लिफ्ट के नीचे किताबें दबी होने की बात बताई।

2016 में ओरिएंटल कॉलेज की चोरी हुईं थीं हजारों किताबें

इस पर मंगलवार सुबह पुलिस जौहर यूनिवर्सिटी पहुंची। आरोपियों की निशानदेही पर लिफ्ट के नीचे की दीवार को तोड़ा गया। यहां किताबों को छिपाया गया था। किताबें हजारों की संख्या में हैं। मदरसा आलिया के प्रधानाचार्य ने बताया था कि वर्ष 2016 में 10633 किताबें कॉलेज से गायब हैं। जिसमें से करीब ढाई हजार किताबें पहले यूनिवर्सिटी से बरामद हो चुकी हैं। अब और किताबें बरामद हुई हैं। इनकी गिनती चल रही है।

अपर पुलिस अधीक्षक डॉ. संसार सिंह ने बताया कि किताबों की गिनती चल रही है। बीते रोज भी आरोपियों की निशानदेही पर नगर पालिका की ऑटोमेटिक स्विपिंग मशीन बरामद की गई थी। आरोपी अनवार और सालिम की 9 घंटे की रिमांड मिली है। बुधवार सुबह 8 से शाम 5 बजे तक से दोनों आरोपियों से पूछताछ की जाएगी।

रामपुर में आजम खान के करीबियों से ED (प्रवर्तन निदेशालय) ने पूछताछ की। इसके बाद पुलिस और प्रशासन की टीम बुलडोजर लेकर जौहर यूनिवर्सिटी पहुंची। वहां की खुदाई के दौरान नगर निगम की सफाई मशीन मिली है।

पुलिस ने सपा नेता आजम खान, उनके बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम, पूर्व पालिकाध्यक्ष अजहर खान, सुल्तान मोहम्मद खान, अनवार हुसैन, सालिम और तालिब के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। आजम खान पर लूटपाट, डकैती और चोरी समेत विभिन्न धाराओं में करीब सौ से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं।

थाना सिविल लाइंस पुलिस ने रविवार को आजम खान के करीबी माने जाने वाले सालिम और अनवार को हिरासत में लिया था। सोमवार को लखनऊ से आई ED की टीम ने दोनों से करीब 2 घंटे तक पूछताछ की। इसके बाद पुलिस टीम दोनों आरोपियों के साथ बुलडोजर लेकर जौहर यूनिवर्सिटी पहुंची। आरोपियों की निशानदेही पर बुलडोजर से तीन जगह खुदाई की गई। एक जगह खुदाई पर मशीन मिली। दोनों आरोपियों की रिमांड के लिए पुलिस ने कोर्ट में अर्जी लगाई है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *