ऑस्ट्रेलिया में फिर हिंदू मंदिर में तोड़फोड़, अब इस्कॉन मंदिर को बनाया निशाना, 15 दिनों में तीसरी घटना

INTERNATIONAL

ऑस्ट्रेलिया में एक बार फिर खालिस्तानी समर्थकों ने इस्कॉन मंदिर को निशाना बनाया है। यहां के विक्टोरिया राज्य में एक मंदिर में खालिस्तानी समर्थकों ने पर तोड़फोड़ की है। इतना ही नहीं, मंदिर में भारत विरोधी कलाकृतियों को भी बनाया गया है। सोमवार को मीडिया रिपोर्ट्स में इसके बारे में बताया गया है। गौरतलब है कि एक पखवाड़े में तीसरी ऐसी घटना है जब ऑस्ट्रेलिया में किसी हिंदू मंदिर पर हमला किया गया है।

इस बार खालिस्तान समर्थकों ने मेलबर्न के अल्बर्ट पार्क में स्थित इंटरनेशनल सोसाइटी फॉर कृष्णा कॉन्शियसनेस (इस्कॉन) मंदिर को क्षति पहुंचाई। मंदिर प्रबंधन के मुताबिक, सोमवार को प्रतिष्ठित मंदिर की दीवारों को भारत विरोधी नारे लिखे और तोड़-फोड़ भी दिखी। इस्कॉन मंदिर के संचार निदेशक भक्त दास ने कहा कि हम पूजा स्थल पर हुई इस घटना को लेकर हैरान और नाराज हैं। उन्होंने आगे बताया कि इस मामले में हमने विक्टोरिया पुलिस में एक शिकायत दर्ज कराई है। अपराधियों की तलाश के लिए हमने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज दिए हैं।

बता दें कि इस्कॉन मंदिर पर यह हमला विक्टोरिया के विभिन्न मतों को मानने वाले नेताओं की विक्टोरियन बहुसांस्कृतिक आयोग के साथ एक आपातकालीन बैठक के ठीक दो दिन बाद हुआ है। बैठक के बाद कथित तौर पर खालिस्तानी समर्थकों द्वारा हिंदू नफरत फैलाने के खिलाफ निंदा का बयान जारी किया गया था।

गौरतलब है कि एक पखवाड़े के भीतर देश में इस तरह की यह तीसरी घटना है। इससे पहले 16 जनवरी को कैरम डाउन्स, विक्टोरिया में ऐतिहासिक श्री शिव विष्णु मंदिर में भी इसी तरह से तोड़फोड़ की गई थी। वहीं, 12 जनवरी को, मेलबर्न में स्वामीनारायण मंदिर में ‘असामाजिक तत्वों’ द्वारा भारत विरोधी चित्र और नारे लिखे गए थे।

वहां कि स्थानीय रिपोर्ट्स के मुताबिक, विक्टोरिया के कार्यवाहक प्रीमियर जसिंटा एलन ने इस मामले में प्रतिक्रिया दी है कि यह व्यवहार विक्टोरिया के लोगों के बहुमत को प्रतिबिंबित नहीं करता है। विक्टोरिया की विविधता हमारी सबसे मजबूत संपत्तियों में से एक है। हम इन हमलों की निंदा करते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *