पाकिस्तान के पंजाब में रेप के बढ़ते मामलों की वजह से Emergency लागू

INTERNATIONAL

पाकिस्तान के पंजाब में रेप के बढ़ते मामलों की वजह से सरकार ने पंजाब में ‘आपातकाल’ Emergency लगाने का फैसला किया है। इस बात की जानकारी पंजाब प्रांत के गृहमंत्री अत्ता तरार ने प्रेस कान्फ्रेंस करके दी। सरकार ने कहा कि रेप के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए यह कदम उठाना पड़ा।

रोजाना बलात्कार के 4-5 मामले

गृहमंत्री ने कहा कि पंजाब में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ यौन उत्पीड़न के बढ़ते मामले समाज और सरकार के लिए काफी गंभीर मुद्दा है। पंजाब में रोजाना रेप के 4-5 मामले सामने आ रहे हैं। जिसके चलते सरकार यौन उत्पीड़न, दुर्व्यवहार और इस तरह के मामलों से निपटने के लिए यह फैसला लेना पड़ा।

बच्चों को घर पर अकेले ना छोड़ने की अपील

कानून मंत्री मलिक मुहम्मद अहमद खान की मौजूदगी में गृहमंत्री बोले- रेप और कानून व्यवस्था पर कैबिनेट समिति द्वारा सभी मामलों की समीक्षा की जाएगी। इन मामलों में नागरिक समाज, महिला अधिकार संगठनों, शिक्षकों और वकीलों से भी परामर्श किया जाएगा। इस तरह की घटनाओं पर बारीकी से नजर रखी जाएगी। गृहमंत्री ने माता-पिता से बच्चों को घर पर अकेले ना छोड़ने की भी अपील की है।

एंटी रेप कैंपेन की शुरूआत

गृहमंत्री तरार ने कहा कि कई मामलों में आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। स्कूलों में छात्रों को यौन उत्पीड़न के बारे में जागरूक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बलात्कार की घटनाओं पर रोक के लिए सरकार ने एंटी रेप कैंपेन की शुरुआत की है। एक सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि कुलीन स्कूलों और कॉलेजों में ड्रग्स लेना एक फैशन बन गया है, जो अपराधों को बढ़ावा देने की अहम वजह बनती जा रही है।

पिछले महीने हुआ चलती ट्रेन में गेंगरेप

पिछले महीने बाहुद्दीन जकारिया एक्सप्रेस ट्रेन में गेंगरेप का मामला सामने आया था। ट्रेन में सफर कर रही लड़की के पास टिकट नहीं था। टिकट चेकर लड़की को जनरल कोच से AC कंपार्टमेंट ले गया। जहां उसने अपने दो साथियों के साथ चलती ट्रेन में दुष्कर्म किया।

लगातार बढ़ रहे गैंगरेप और ऑनर किलिंग के मामले

कनाडा के थॉमसन रॉयटर्स फाउंडेशन ने एक रिपोर्ट में बताया- साल 2021 में पाकिस्तान में 1000 लड़कियों की ऑनर किलिंग की गई। वहीं, कट्टरपंथी जमातों ने कई महिलाओं के साथ गैंगरेप किया। कट्टरपंथी जमातें महिला राजनेताओं, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और वकीलों को निशाना बना रही है।

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.