26 सितंबर से शारदीय नवरात्रि प्रारंभ, जाने कलश स्थापना का शुभ महूर्त

देवी आराधना का पर्व नवरात्रि 26 सितंबर से शुरू होने वाला है। इसके पहले ही दिन कलश (घट) स्थापना होती है। साथ में अखंड ज्योति और जवारे यानी धान बोने की भी परंपरा है। इसके लिए घर को शुद्ध करने और जरूरी चीजें जुटाने के लिए 24 और 25 सितंबर को शुभ मुहूर्त रहेंगे। इनमें […]

Continue Reading

प्रवचन: संप्रदाय होना गलत नहीं, सांप्रदायिकता है अनुचित: जैन मुनि डा.मणिभद्र महाराज

आगरा: जैन मुनि नेपाल केसरी डा.मणिभद्र महाराज ने कहा है कि संप्रदाय तो भगवान महावीर के युग में भी थे, लेकिन मतभेद नहीं था। संप्रदायों का होना गलत नहीं है, सांप्रदायिक होना अनुचित है। राजामंडी के जैन स्थानक में भक्तामर स्रोत अनुष्ठान किया जा रहा है, जिसमें भक्ति की धारा प्रवाहित हो रही है। इस […]

Continue Reading

प्रवचन: गुणग्राही बन कर अच्छा ही देंखे और करेंः जैन मुनि डा.मणिभद्र महाराज

आगरा ।नेपाल केसरी जैन मुनि डा.मणिभद्र महाराज ने कहा है कि जो जैसा होता है, उसे वैसा ही दिखता है। इसलिए गुणग्राही बन कर अच्छा ही देखो। अवगुणों को न देख कर सभी में सद् गुणों को देखें, तभी मानव जीवन सफल हो सकता है । राजामंडी के जैन स्थानक में हो रहे वर्षावास के […]

Continue Reading

कई रहस्यों को अपने अंदर समेटा हुआ है बाबा केदारनाथ धाम

महाभारत काल में  पांडवों द्वारा निर्मित भगवान शिव का धाम केदारनाथ धाम पर कई प्राकृतिक आपदाएं आई लेकिन मंदिर हमेशा सुरक्षित रहा। यहाँ तक कि एक समय में तो मंदिर 400 वर्षों तक बर्फ में दबा रहा लेकिन उसे कुछ नहीं हुआ। 2013 में आई भीषण आपदा में भी केदारनाथ के पीछे चमत्कारिक रूप से […]

Continue Reading

प्रवचन: अपने तर्क से नर्क मत बनाओ जीवन – जैन मुनि मणिभद्र महाराज

आगरा: नेपाल केसरी जैन मुनि डा.मणिभद्र महाराज ने कहा कि हम तर्क देकर जीवन को नर्क बना रहे हैं। यदि संयम, उदारता, समसरता, सरलता को बनाए रखेंगे तो हमें पुनः मनुष्य का जीवन मिल सकता है। वरना नर्क के भोग, भोगने होंगे। जैन स्थानक, राजा की मंडी में प्रवचन करते हुए जैन मुनि ने कहा […]

Continue Reading

प्रवचन: आत्मावलोकन से ही मिलता है आत्मिक सुख- जैन मुनि डा.मणिभद्र

आगरा: नेपाल केसरी, मानव मिलन संस्थापक डा.मणिभद्र महाराज ने कहा कि एकता में अनेकता के दर्शन ही वीतराग है। उसी में ही परम सुख की अनुभूति होती है। इसी को अपनाना चाहिए। उन्होंने यह विचार भक्तामर अनुष्ठान के दौरान मंगलवार को व्यक्त किए। राजामंडी के जैन स्थानक में हो रहे वर्षावास के दौरान प्रवचन करते […]

Continue Reading

प्रवचन: जीवन में सफलता के लिए पाएं आंतरिक शत्रुओं पर विजय- जैन मुनि मणिभद्र महाराज

आगरा: नेपाल केसरी जैन मुनि डा.मणिभद्र महाराज ने कहा है कि हमारे जीवन में आंतरिक शत्रु सफलता में बाधक रहते हैं। उन पर विजय प्राप्त करके ही हम अपने जीवन में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। जैन स्थानक, राजामंडी में आयोजित भक्तामर स्रोत अनुष्ठान में प्रवचन करते हुए जैन मुनि ने कहा कि हमारे आंतरिक […]

Continue Reading

प्रवचन: राग द्वेष का आनंद छोड़ो, भक्ति में रम जाओ- जैन मुनि डा.मणिभद्र महाराज

आगरा: नेपाल केसरी जैन मुनि डा.मणिभद्र महाराज ने कहा है कि सुख और दुख के लिए किसी को दोष नहीं देना चाहिए। ये तो अपने-अपने कर्मों के फल हैं। जो जैसा करता है, वैसा ही फल भोगना पड़ता है। इसलिए अच्छे कर्म करके मोक्ष की प्राप्ति करें। जैन स्थानक, राजामंडी में इन दिनों भक्तामर स्रोत […]

Continue Reading

प्रवचन: जीवन में हमेशा दुख देते हैं मिथ्या ज्ञान- जैन मुनि डॉक्टर मणिभद्र महाराज

आगरा: जैन मुनि एवं नेपाल केसरी डा.मणिभद्र महाराज ने कहा है कि तीर्थंकर आत्मा को ही ज्ञान मानते हैं। इसमें मिथ्या ज्ञान को कष्टकर माना गया है। वह हमेशा दुख देता है, जबकि सम्यक ज्ञान सुखदायक होता है। राजामंडी के जैन स्थानक में हो रहे भक्तामर स्रोत पाठ के बाद शनिवार को प्रवचन करते हुए […]

Continue Reading

प्रवचन: सुख-दुख में समभाव रखने से होगा कल्याण- जैन मुनि डा.मणिभद्र महाराज

आगरा: नेपाल केसरी और मानव मिलन संस्थापक जैन मुनि डा.मणिभद्र महाराज ने कहा है कि जीवन में सम्यक भाव रखने चाहिए। तभी जीवन सुखदायक रहेगा। वरना इस जीवन में कष्टों की कमी नहीं है। राजामंडी के स्थानक में हो रहे भक्तामर स्रोत अनुष्ठान का शुक्रवार को 19 वां भक्ति पुष्प अर्पित किया गया। पाठ में […]

Continue Reading