WHO ने कोरोना की रोकथाम के लिए किए गए उपायों पर यूपी सरकार को सराहा

Regional

लखनऊ। विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO ने उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए उठाए गए कदमों की सराहना की। डब्ल्यूएचओ की ओर से कहा गया है कि उच्च जोखिम वाले संपर्कों की प्रारंभिक जांच और उनकी ट्रैकिंग करके उत्तर प्रदेश को Covid-19 के खिलाफ लड़ाई लड़ने में काफी मदद मिली है। बता दें कि यूपी ने कोरोना महामारी को लेकर देश में सबसे ज्यादा जांच की है।

डब्ल्यूएचओ की ओर से कहा गया कि कोरोना महामारी से निपटना उत्तर प्रदेश जैसे किसी बड़े राज्य के लिए चुनौतीपूर्ण था। ऐसे में राज्य सरकार ने योजना के तहत लोगों की जांच की। कोरोना मरीजों के संपर्क में आए लोगों का पता करके उनकी जांच की गई और बेहतर निगरानी के चलते काफी सफलता मिली।

कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग बेहतर उपाय

डब्ल्यूएचओ इंडिया के प्रतिनिधि डॉ. रोडेरिको टूरीन ने कहा कि बीमारी के प्रकोप को रोकने के लिए कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग एक जरूरी उपाय था। ऐसे में यूपी सरकार ने कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग को आगे बढ़ाते हुए Covid-19 की रणनीति बनाई जो कि अन्य लोगों के लिए एक अच्छा उदाहरण के रूप में काम कर सकती है।

कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग के लिए 70,000 से अधिक फ्रंट-लाइन वर्कर

यूपी सरकार के राज्य निगरानी अधिकारी विकासेंदु अग्रवाल ने बताया कि 70,000 से अधिक फ्रंट-लाइन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के एक विशाल कार्यबल ने कोविद -19 पॉजिटिव मामलों के कॉन्ट्रैक्ट को सूचीबद्ध किया। ऐसा करने से महामारी को रोकने में हमें काफी सफलता मिली। अग्रवाल ने कहा कि हालांकि, स्टेल लेवल कॉन्ट्रैक्ट की गुणवत्ता का मूल्यांकन करना चाहते थे, जिसके लिए डब्ल्यूएचओ को स्वतंत्र मूल्यांकन एजेंसी के रूप में प्रस्तुत किया गया था, जब कोविद -19 मामलों का चलन बढ़ रहा था।

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.