RILकी 51 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीदने पर सऊदी अरब का PIF और ADIA सहमत

Business

नई दिल्‍ली। एशिया और भारत के सबसे बड़े धनकुबेर मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज RIL ने एक इनविट स्ट्रक्चर के जरिए अपने फाइबर ऑप्टिक नेटवर्क से कमाई की प्रक्रिया शुरू कर दी है। सऊदी अरब का पब्लिक इनवेस्टमेंट फंड (PIF) और आबू धाबी इनवेस्टमेंट अथॉरिटी (ADIA) इसमें 51 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए एक अरब डॉलर निवेश करने को सहमत हो गई हैं।

इसके लिए पिछले करीब एक साल से बातचीत चल रही थी। ये दो सॉवरेन फंड रिलायंस के इनविट डिजिटल फाइबर इन्फ्रास्ट्रक्चर ट्रस्ट (DFIT) में 51 फीसदी हिस्सेदारी हासिल करेंगे। इसके लिए दोनों सॉवरेन फंड्स में से प्रत्येक 3,799 करोड़ रुपये (50.6 करोड़ डॉलर) निवेश करेंगे। कंपनी ने अपनी प्रजेंटेशन में यह जानकारी दी। इनविट-डिजिटल फाइबर इन्फ्रास्ट्रक्चर ट्रस्ट (DFIT) का 49 फीसदी के अधिक हिस्सा रिलायंस की विभिन्न कंपनियों के पास रहेगा। ये कंपनियां भी इसमें 1 अरब डॉलर निवेश कर रही हैं।

कितनी रकम जुटाएगी कंपनी

ईटी ने पहले खबर दी थी कि पीआईएफ और एडीआईए की फाइबर एसेट्स में निवेश के लिए रिलांयस से बात चल रही है। कंपनी का इनविट डिजिटल फाइबर इन्फ्रास्ट्रक्चर ट्रस्ट (डीएफआईटी) निवेशकों को यूनिट जारी कर 14,700 करोड़ रुपये और कर्ज के जरिए 25,000 करोड़ रुपये जुटाएगा। रकम का इस्तेमाल फाइबर ऑप्टिक कंपनी का कर्ज खत्म करने में होगा। फाइबर ऑप्टिक कारोबार में 51 फीसदी हिस्सेदारी इनविट की और बाकी आरआईएल की होगी।

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.