आगरा: लेखपालों एवं अधिवक्ताओं का विवाद मामला, दोनो पक्ष धरने पर बैठे, मुख्यमंत्री के नाम भेजा ज्ञापन

Local News

आगरा जनपद के कस्बा बाह स्थित तहसील मुख्यालय परिसर में तहसीलदार कार्यालय में लेखपालों और अधिवक्ताओं में पत्रावली को लेकर दोनों पक्षों में झड़प के साथ विवाद हाथापाई हो गई थी। दोनों पक्षों में ने थाने में शिकायत कर कार्रवाई की मांग की थी। पुलिस ने लेखपालों की शिकायत पर अधिवक्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया। अधिवक्ताओं की तरफ से मुकदमा दर्ज नहीं होने पर आक्रोशित अधिवक्ताओं ने कार्य को कलम बंद हड़ताल कर तहसील परिसर में धरने पर बैठ कर कार्रवाई की मांग की है।

आपको बता दें कस्बा बाह स्थित तहसील परिसर में बुधवार को तहसीलदार कार्यालय पर लेखपालों अधिवक्ताओं में एक पत्रावली मामले में कहासुनी को लेकर आमने-सामने आ गए थे। दोनों पक्षों में विवाद के साथ जमकर मारपीट हाथापाई हुई। जिसे लेकर लेखपालों और अधिवक्ताओं दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर अभद्रता मारपीट हाथापाई का आरोप-प्रत्यारोप लगाते हुए थाने में प्रार्थना पत्र देकर पुलिस से कार्रवाई की मांग की थी।

जिसमें लेखपाल संतोष कुमार राजपूत ने आरोप लगाया कि तहसीलदार बाह के कार्यालय में अधिवक्ताओं द्वारा उनके और लेखपाल साथियों के साथ मारपीट की गई। वही बार एसोसिएशन बाह के अध्यक्ष एडवोकेट आनंद प्रकाश पचौरी ने लेखपालों द्वारा तहसीलदार कार्यालय में अधिवक्ताओं के साथ अभद्रता कर धक्का मारकर हाथापाई करते हुए मारपीट की जिसमें बुजुर्ग अधिवक्ता चोटिल चोटिल हो गए।

वहीं पुलिस ने लेखपाल संतोष राजपूत की प्रार्थना पत्र के आधार पर अधिवक्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। वही अधिवक्ताओं के प्रार्थना पत्र के आधार पर पुलिस द्वारा लेखपालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।

गुरुवार को बार एसोसिएशन बाह के नेतृत्व में आक्रोशित अधिवक्ताओं ने तहसील परिसर में कलम बंद कर हड़ताल कर दी और परिसर में धरने पर बैठ गए। अधिवक्ताओं ने तहसील अधिकारी कर्मचारियों पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की और उच्चाधिकारियों को मामले से अवगत करा कर दोषियों के खिलाफ जांच कर कार्रवाई को मांग की गई।

वही बार एसोसिएशन के अध्यक्ष के नेतृत्व में मुख्यमंत्री पोर्टल पर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भेजकर, आयुक्त आगरा, जिलाधिकारी आगरा,को शिकायती पत्र भेजकर तहसील बाह प्रशासन के भ्रष्ट आचरण से अवगत कराते हुए आरोप लगाया कि तहसील के अधिकारी अपने अधीनस्थ लेखपाल, राजस्व निरीक्षकों के माध्यम से भोली-भाली जनता से वसूली करवाते हैं जिसमें सबका हिस्सा होता है। अधिवक्ताओं पर झूठी द्वेषपूर्ण मुकदमे को वापस कराने की मांग की गई है।

इसी संदर्भ में बार एसोसिएशन बाह के अध्यक्ष आनंद प्रकाश पचौरी ने बताया कि हमने ज्ञापन सौंपने के लिए एसडीएम बाह को बुलाया मगर वह उपस्थित नहीं हुए तो मुख्यमंत्री पोर्टल के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा गया है। पूरे मामले को लेकर अधिवक्ताओं में रोष व्याप्त है।

तहसील परिसर में लेखपाल भी हड़ताल कर धरने पर बैठ

बाह तहसील परिसर में हुए लेखपाल और अधिवक्ताओं का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा एक तरफ अधिवक्ताओं ने तहसील परिसर में कलम बंद हड़ताल कर धरने पर बैठकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भेजा है। तो वही मामले में गुरुवार को लेखपालों ने कार्य का हड़ताल कर तहसील के सभागार में एकत्रित हुए और बैठक कर अधिवक्ताओं की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। लेखपालों ने पूरी तरह से काम बंद कर दिया है।

-up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.