दलित के घर खिचड़ी खाकर महंत योगी आदित्यनाथ ने निभाई मकर संक्रांति से जुड़ी परंपरा

City/ state Regional

मकर संक्रांति के अवसर पर गुरु गोरक्षनाथ को सबसे पहली खिचड़ी गोरक्षपीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ चढ़ाते हैं। इस परंपरा का निर्वहन करने सीएम योगी आदित्यनाथ गोरखपुर पहुंच गए हैं। इसी बीच उन्होंने शुक्रवार को एक दलित के घर खिचड़ी खाई और मकर संक्रांति से जुड़ी पुरानी परंपरा निभाई।

शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के मानबेला की पीरु शहीद दलित बस्ती पहुंचे। यहां उन्होंने बीजेपी के पुराने कार्यकर्ता अमृत लाल के घर खाना खाया। इसके बाद अमृत लात के परिवार ने मुख्यमंत्री योगी को बाबा साहेब अम्बेडकर और भगवान बुद्ध के चित्र के रूप में स्मृति चिन्ह दिया। अमृत लाल पिछले 30 साल से गोरखनाथ मंदिर से भी जुड़े हुए हैं। वहीं किसी दलित के घर खाना खाने की यह परंपरा मठ में 40 साल से चली आ रही है। योगी आदित्यनाथ के गुरू महंत अवैद्यनाथ भी इस परंपरा को निभाते थे।

27 हजार केंद्रों पर होगा खिचड़ी सहभोज

सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहां कहा कि बीजेपी में 27 हजार शक्ति केंद्रों पर खिचड़ी भोज के साथ जुड़ने का निर्णय लिया है इसलिए आज मैं यहां पर आया हूं। यह समाजिक समता का सह भोज है। उन्होंने कहा कि किसी दलित बस्ती में जाकर सह भोज और विभिन्न योजनाओं के बारे में चर्चा करना हमारा लक्ष्य है। यह कार्यक्रम पहले बड़े स्तर पर होना था, लेकिन कोरोना को ध्यान रखते हुए सभी कार्यकर्ताओं को इसके साथ सहभागी नहीं बनाया गया है।

गरीबों के 43 लाख आवास बने

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में सात साल और प्रदेश सरकार में पिछले पांच साल से हमने बिना भेदभाव के हर गरीब, किसान, नौजवान, महिलाओं समेत विभिन्न वर्गों को योजनाओं का लाभ दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 43 लाख गरीबों के एक-एक लाख आवास बनें है। 2.61 करोड़ गरीबों के घर में शौचालय बन गए हैं।

नेपाल राज परिवार की भी चढ़ेगी खिचड़ी

14 जनवरी को भी सीएम गोरखनाथ मंदिर में ही रहेंगे और मकर संक्रांति पर्व पर श्रद्धालुओं की सुख सुविधा का ख्याल रखेंगे। 15 जनवरी की सुबह विशेष पूजन कर गुरु गोरक्षनाथ को मंदिर की ओर से प्रथम खिचड़ी चढ़ाएंगे। इसके बाद नेपाल राज परिवार की खिचड़ी चढ़ाई जाएगी। इस दिन भी सीएम योगी आदित्यनाथ मंदिर परिसर में ही रहेंगे।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *