आगरा: अंततः अधिकारियों ने तुड़वाया किसान नेता का अनशन, इनर रिंग रोड़-भूमि अधिग्रहण घोटाले के मामले में दर्ज हुई एफआईआर

City/ state Regional Uttar Pradesh

आगरा। इनर रिंग रोड एवं लैंड पार्सल भूमि अधिग्रहण घोटाले में शामिल दोषियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने की माँग को लेकर किसान नेता श्याम सिंह चाहर का चल रहा अनशन और तहसील पर चल रहा धरना दोनों ही समाप्त हो गए। धरना प्रदर्शन के लगभग 28 दिन बाद एडीएम सिटी, अन्य प्रशासनिक अधिकारी और राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि जिला अस्पताल पहुंचे। सभी की मौजूदगी में एडीएम सिटी ने किसान नेता श्याम सिंह चाहर की हड़ताल और अनशन दोनों ही तुड़वाये।

दी एफआईआर की कॉपी

किसान नेता श्याम सिंह चाहर ने अपना अनशन तोड़ने से पहले किसान नेता श्याम सिंह चाहर ने दोषी अधिकारियों के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर की मांग की। एडीएम सिटी ने दोषी अधिकारियों के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर की कॉपी उन्हें उपलब्ध कराई जिसके बाद किसान नेता श्याम सिंह चाहर ने अपना अनशन तोड़ दिया।

तहसील पर चल रहा धरना भी हुआ समाप्त

किसान नेता श्याम सिंह चाहर का अनशन टूटने के बाद तहसील पर चल रहे धरने को भी समाप्त कराया गया। किसान नेता सोमबीर यादव तहसील सदर पहुंचे और वहां पर किसान भाइयों को दोषी अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने की जानकारी दी और से किसान नेता सोमबीर यादव ने तहसील पर चल रहे किसानों के धरने को समाप्त कराया।

100 से अधिक दोषियों के खिलाफ होगी कार्रवाई

किसान नेता श्याम सिंह चाहर का कहना है कि दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की गई है। इसमें कुछ नामजद हैं तो कुछ लोगों को अज्ञात में रखा गया है। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ेगी इस पूरे घोटाले में शामिल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई और मुकदमा दर्ज कराने की लड़ाई लड़ते रहेंगे।

किसानों की यह पहली जीत है

किसान नेता श्याम सिंह चाहर का कहना है कि इनर रिंग रोड और लैंड पार्सल भूमि अधिकरण घोटाले में शामिल दोषी अधिकारियों के खिलाफ किसान भाइयों की यह सबसे बड़ी और पहली जीत है। दोषी अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद अब उन पर कार्रवाई होना सुनिश्चित है लेकिन प्रशासन ने बड़े लोगों को अज्ञात में रखा है। इनके खिलाफ मजबूती के साथ लड़ाई लड़ी जाएगी जिससे यह अधिकारी बच न सके।

-प्रशांत कुलश्रेष्ठ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *