आगरा: बच्चों व वृद्धजनों की आंखों की होगी स्क्रीनिंग, मिलेगा नि:शुल्क चश्मा

Press Release

सीएमओ ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जारी किए दिशा-निर्देश

राष्ट्रीय दृष्टिविहीनता व दृष्टिदोष नियंत्रण कार्यक्रम 14 अक्टूबर को मनाया जाएगा।

आगरा: राष्ट्रीय दृष्टिविहीनता व दृष्टिदोष नियंत्रण कार्यक्रम 14 अक्टूबर को मनाया जाएगा। देश की आजादी के 75वें स्वतंत्रता दिवस पर मनाए जाने वाले अमृत महोत्सव के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन होगा। सीएमओ ने कार्यक्रमों को सकुशल कराने के लिए अधीनस्थों को दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.अरूण कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि विश्व दृष्टि दिवस पर बच्चों को सामान्य नेत्ररोगों को परीक्षण किया जाएगा। जरूरतमंद स्कूली बच्चों व वृद्धजनों के लिए नि:शुल्क चश्मा वितरण किया जाएगा। 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए मोतियाबिंद व काला मोतिया के परीक्षण चिकित्सालयों में अधिक से अधिक स्र्रींनग क्लीनिक व चिकित्सालयों में ओपीडी को संचालित किया जाएगा। नेत्र दुर्घटना से बचाव के विशेष तरीकों को अपनाने व दुर्घटना के नियंत्रित करने व रोगों के उपचार के लिए राजकीय चिकित्सालयों व राष्ट्रीय दृष्टिविहीनता व दृष्टिदोष नियंत्रण कार्यक्रम में सहयोग दे रहीं स्वैच्छिक संस्थाओं के चिकित्सालयों द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे फेसबुक व व्हाट्सएप का प्रयोग करते हुए आम जनता में स्थानीय और जिला स्तर पर होने वाली गतिविधियों का प्रचार-प्रसार की रणनीति को अपनाया गया है।

सीएमओ डा.अरूण श्रीवास्तव ने सभी अधीक्षकों और प्रभारी चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि 75वें स्वतंत्रता अमृत महोत्सव के लिंक के साथ गुरुवार को विश्व दृष्टि दिवस जागरूकता अभियान चलाया जाए। स्कूली बच्चों और वृद्ध लोगों के बीच आंखों की स्क्र्रींनग कर चश्मे का वितरण मुफ्त बांटी जाएगी।

स्कूली बच्चों की होगी स्क्रीनिंग

अमृत महोत्सव के साथ इस वर्ष विश्व दृष्टि दिवस को जोड़ दिया। एसीएमओ डा.विनय कुमार ने जिला स्तर पर स्कूलों व चिकित्सालयों में आयोजित होने वाली सभी गतिविधियों के लक्ष्यों को 75 की संख्या के अनुसार निर्धारित किया जाना है। हर स्कूल में कम से कम 75 की संख्या के अनुसार बच्चों की स्क्रीनिंग किया जाना है। 75 जरूरतमंद बच्चों व 75 वृद्धजनों को नि:शुल्क चश्मा प्रदान किया जाएगा। उन्होंने बताया कि नेत्र ओपीडी में कम से कम 75 नेत्र रोगियोंको मोतियाबिंद, ग्लूकोमा व अन्य दृष्टि दोष का परीक्षण किया जाएगा।

-up18 News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *