श्रीलंकाई सेना के शीर्ष नेतृत्व से मिले भारतीय थल सेना प्रमुख नरवणे, द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को आगे बढ़ाने के उपायों पर चर्चा

Exclusive

भारतीय थल सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने बुधवार को यहां श्रीलंकाई सेना के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात की और प्रगाढ़ द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को आगे बढ़ाने के उपायों पर चर्चा की।

रक्षा सहयोग को और आगे बढ़ाने के उपायों पर चर्चा

भारतीय सेना ने एक ट्वीट में कहा कि अपने श्रीलंकाई समकक्ष जनरल शावेंद्र सिल्वा के निमंत्रण पर मंगलवार को चार दिवसीय यात्रा पर यहां पहुंचे जनरल नरवणे ने रक्षा मंत्रालय के सचिव जनरल (सेवानिवृत्त) जीडीएच कमल गुनारत्ने से मुलाकात की तथा श्रीलंका व भारत के बीच प्रगाढ़ रक्षा सहयोग को और आगे बढ़ाने के उपायों पर चर्चा की।

जनरल शावेंद्र सिल्वा से की मुलाकात

उन्होंने सेना मुख्यालय का भी दौरा किया जहां उन्होंने सम्मान गारद का निरीक्षण किया। भारतीय सेना की तरफ से जारी एक अन्य ट्वीट के मुताबिक “सेना प्रमुख ने शानदार ‘टर्नआउट व परेड’ के लिए गारद की सराहना भी की।”

भारतीय सेना ने कहा कि जनरल नरवणे ने जनरल शावेंद्र सिल्वा से मुलाकात की और दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को बढ़ावा देने से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने यात्रा के दौरान श्रीलंकाई सेना के वरिष्ठ अधिकारियों से भी बातचीत की।

भारतीय शांति सेना के बहादुरों को दी श्रद्धांजलि

जनरल नरवणे ने यहां भारतीय शांति सेना (आईपीकेपी) युद्ध स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित किया और भारतीय सेना के उन बहादुरों को श्रद्धांजलि दी जिन्होंने श्रीलंका में शांति अभियान के दौरान अपने प्राणों की आहुति दी थी। उन्होंने श्रीलंकाई सेना के पूर्व सैनिकों से भी बातचीत की। वह खुद भी 1987 से 1990 के बीच उत्तरी व पूर्वी श्रीलंका में भारतीय शांतिरक्षक बल में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

श्रीलंकाई प्रधानमंत्री से भी हो सकती है मुलाकात

यहां भारतीय उच्चायोग ने मंगलवार को एक ट्वीट में कहा, “(उनका) दौरा भारत और श्रीलंका के बीच रक्षा क्षेत्र में गहन सहयोग का मार्ग प्रशस्त करेगा।” अपनी यात्रा के दौरान, जनरल नरवणे के श्रीलंकाई सशस्त्र बलों के कमांडर-इन-चीफ व राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे, और प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे से भी मिलने की उम्मीद है। बृहस्पतिवार को वह पूर्व में मदुरू ओया स्पेशल फोर्स ट्रेनिंग स्कूल में चल रहे द्विपक्षीय अभ्यास ‘मित्र शक्ति’ का अंतिम प्रदर्शन देखेंगे।

मित्र शक्ति’ अभ्यास का आठवां संस्करण

भारत और श्रीलंका ने पिछले सप्ताह द्वीपीय राष्ट्र के पूर्वी जिले अम्पारा में युद्धक प्रशिक्षण स्कूल’ में आतंकवाद विरोधी सहयोग बढ़ाने पर ध्यान देने के साथ 12 दिवसीय व्यापक सैन्य अभ्यास शुरू किया था। कर्नल प्रकाश कुमार की अध्यक्षता में भारतीय सेना के 120 जवानों की सशस्त्र टुकड़ी की भागीदारी के साथ चार से 15 अक्टूबर तक ‘मित्र शक्ति’ अभ्यास का आठवां संस्करण चल रहा है।

जनरल नरवणे की यात्रा विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला के श्रीलंका दौरे और देश के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात के एक सप्ताह बाद हो रही है। श्रृंगला ने रक्षा और सुरक्षा क्षेत्र में मार्गदर्शन और घनिष्ठ सहयोग के लिए राष्ट्रपति राजपक्षे को भी धन्यवाद दिया था।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *