आगरा: शहर के विभिन्न स्कूलों में घूमी ‘टीम पापा’, अभिभावकों की समस्याओं का किया समाधान

Local News

आगरा: मंगलवार को प्रोग्रेसिव एसोसिएशन ऑफ पेरेंट्स (पापा) संस्था के अध्यक्ष दीपक सरीन के निर्देश पर संस्था की विभिन्न टीमों ने आगरा शहर भर के विभिन्न स्कूलों में भ्रमण कर जिला प्रशासन की बैठक में तय बिंदुओं पर कार्यवाही हो रही है या नहीं, इसका निरीक्षण किया। स्कूलों में पहुंचने के दौरान स्कूल परिसर में मिले अभिभावकों की समस्याओं को भी सुना गया और उनकी समस्याओं के समाधान के लिए स्कूल के प्रिंसिपल से मुलाकात की। अभिभावकों की समस्याओं को उनके सामने रखा और उनका तुरंत निस्तारण भी कराया।

संस्था के पदाधिकारियों ने बताया कि इस निरीक्षण के दौरान संस्था के अध्यक्ष दीपक सरीन भी लगातार टीमों के संपर्क में रहे और मॉनिटरिंग भी करते रहे जिससे किसी तरह की समस्या सामने आई तो उसका समाधान भी कराया गया।

लगभग एक हफ्ते पहले टीम पापा के प्रदर्शन को लेकर एडीएम सिटी ने स्कूल एसोसिएशन के पदाधिकारियों की बैठक बुलाई। इस बैठक में अप्सा, नप्सा, वोसा आस्था संस्था के अध्यक्ष, सचिव व सेंट पीटर्स स्कूल के फादर व टीम पापा से दीपक सिंह सरीन व प्रवीण सक्सेना मौजूद रहे। बच्चों की समस्याओं को लेकर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई और सहमति बनी थी।

1:- 2018 एजुकेशन अमेंडमेंट एक्ट और 2020 और 21 के शासनादेश में आ रहे अंतर के स्पष्टीकरण के लिए जिला प्रशासन द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिख स्पष्टीकरण लिया जाएगा। यदि उसके अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार ने जीओ में घोषित मदों में छूट देने का प्रावधान बरकरार रखा तो सरकार के आदेश अनुसार उन सभी मदों में स्कूलों के द्वारा छूट दी जाएगी।

2:- जिले के समस्त अभिभावक जिन्होंने 1 वर्ष से अपनी फीस जमा नहीं की है उन पर एकमुश्त फीस जमा करने के दबाव से मुक्त करते हुए एक क्वार्टर फीस तत्काल प्रभाव से जमा करते हुए आगामी फीस जमा करने के लिए स्कूल प्रबंधन समय देंगे।

3:- किसी भी बच्चे को ऑनलाइन ग्रुप से नहीं निकाला जाएगा। किसी भी बच्चे को परीक्षा देने से रोका नहीं जाये।

4:- किसी भी बच्चे को परीक्षा परिणाम दिखाने से रोका नहीं जाएगा। जिन स्कूलों की फ़ीस बढ़ने की शिकायत मिलेगी उस पर कारवाई की जाएगी। टीम पापा के द्वारा भेजी गई समस्त शिकायतों को तत्काल प्रभाव से निस्तारण के लिये भेजा जा रहा है।

5:- कोरोना वैश्विक महामारी के चलते जो अभिभावक आर्थिक समस्या से परेशान हैं। वह स्कूल जाकर स्कूल प्रबंधक से मुलाकात करें और अपनी बिगड़ी हुई आर्थिक स्थिति के बारे में जानकारी देते हुए उनसे फीस में छूट देने का निवेदन कर सकते हैं।

6:- पापा संस्था की शिकायतों और जिले के स्कूलों के बीच में चल रहे तनाव को देखते हुए माध्यमिक और अपर माध्यमिक स्तर पर एक ग्रीवेंस सेल का गठन किया जाएगा। यदि कोई स्कूल इसके विपरीत करता है तो उसके खिलाफ जिला प्रशासन के द्वारा सख्त कार्रवाई की जाएगी।

टीम पापा के अध्यक्ष दीपक सरीन का कहना था कि आज शहर भर के विभिन्न स्कूलों में पापा संस्था की टीमें निरीक्षण करने के लिए पहुंची थी। काफी स्कूलों में तो बैठक में तय हुए बिंदुओं पर कार्य हो रहा है लेकिन कुछ में इन बिंदुओं पर कार्य होता हुआ नही मिला। ऐसे स्कूल के प्रशासन को सरकार की गाइडलाइंस और जिला प्रशासन की बैठक में तय हुए बिंदुओं को अमल में लाने की हिदायत दी गई।

टीम पापा के जिला कार्यकारिणी के सदस्य कपिल उप्पल ने बताया कि यह आज संस्था के अध्यक्ष के निर्देश पर टीम पापा की लगभग 7 टीमें शहर भर के विभिन्न स्कूलों में पहुंची। जहाँ अभिभावकों से मुलाकात की गई और उनकी समस्याओं का समाधान हो रहा है यह जानकारी ली गयी। उन्होंने खुद डॉ वेदांत राय के साथ सेंट मेरी और सेंट जॉर्जेस स्कूल पहुँचे थे। यहाँ पर जिन बच्चों को ऑनलाइन क्लास से रिमूव किया गया था उन्हें जुड़वाया गया।

संस्था के सदस्य डॉ वेदांत राय का कहना था कि अभी भी स्कूल के छात्रों और अभिभावकों की समस्याएं है। जिनका समाधान किया जा रहा है। आज जिला प्रशासन की बैठक के बाद पहला दौरा था। कुछ स्कूलों ने प्रशासन की बैठक में तय बिंदुओं को अमली जामा पहनाया गया है। अभिभावकों की लड़ाई जारी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *