आखिरी क्षण में भी रद्द किया जा सकता है तोक्यो ओलंपिक: आयोजन समिति प्रमुख तोशिरो मूटो

SPORTS

तोक्यो ओलंपिक के आयोजन की लगभग सभी तैयारियां पूरी हो चुकी है। देश विदेश के नामी गिरामी एथलीट तोक्यो खेलगांव पहुंच चुके हैं। कोरोना वायरस महमारी के चलते खेलों के इस महाकुंभ को एक साल की देरी से आयोजित किया जा रहा है।

ऐसे में खबर अब यह आ रही है कि खेलगांव के आसपास यदि कोविड-19 के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी हुई तो ओलंपिक को आखिरी क्षण में भी रद्द किया जा सकता है।

तोक्यो ओलंपिक आयोजन समिति के प्रमुख तोशिरो मूटो ने ओलंपिक के अंतिम समय में रद्द होने की संभावनाओं से इंकार नहीं किया है।

आयजकों की बढ़ी चिंता

तोक्यो में मंगलवार को कोरोना के 1387 नए मामले सामने आए। मूटो से जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह पूछा गया कि कोविड-19 के मामले जिस तेजी से बढ़ रहे हैं तो ऐसे में क्या ओलंपिक को अब भी रद्द किया जा सकता है, इस पर तोक्यो ओलंपिक आयोजन समिति के प्रमुख ने कहा कि वह संक्रमण संख्या पर नजर रखेंगे और यदि आवश्यक हुआ तो अन्य आयोजकों के साथ संपर्क करेंगे।

‘हम फिर से बैठक बुलाएंगे’

मूटो ने कहा, हम यह अंदाजा नहीं लगा सकते हैं कि कोरोनो वायरस के मामले कितने बढ़ेंगे इसलिए अगर मामलों में बढ़ोत्तरी होती है तो हम चर्चा जारी रखेंगे। हम इस बात पर सहमत हुए हैं कि कोरोनो वायरस स्थिति के आधार पर हम फिर से पांच दलों की बैठक बुलाएंगे। ऐसे समय पर कोरोना वायरस के मामले बढ़ सकते हैं या गिर सकते हैं, इसलिए हम देखेंगे कि स्थिति आने पर हमें क्या करना चाहिए।’

11 हजार एथलीट बनेंगे इस महाकुंभ के गवाह

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए जापान सरकार ने इस समय अपने यहां आपातकाल की घोषणा की है। तोक्यो ओलंपिक का आयोजन बिना दर्शकों के होगा। खेलों के इस महाकुंभ में देश दुनिया के लगभग 11 हजार एथलीट हिस्सा लेंगे।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *