दंगल टीवी के कलाकार रक्षा अधिकारियों को 2020 के दौरान उनकी सेवा के लिए धन्यवाद देते हैं

Entertainment

मुंबई: 2020 वास्तव में हम सभी के लिए एक कठिन वर्ष था ।लेकिन जब हम अपने घरों में सुरक्षित थे, हमारे सशस्त्र बलों ने दिन-रात राष्ट्रीय सुरक्षा सुनिश्चित की। हमारी सीमाओं पर अपनी जिम्मेदारी से परे जाकर, उन्होंने एक सुरक्षित लॉकडाउन भी सुनिश्चित किया।गणतंत्र दिवस के अवसर पर दंगल टीवी के कलाकार हमारे रक्षा बलों के कभी न खत्म होने वाले समर्पण और बलिदान के आभारी हैं। मैं रक्षा बलों और देश के प्रत्येक नागरिक को एक बहुत ही खुशहाल गणतंत्र दिवस की शुभकामना देना चाहता हूं।

यह सच है कि, रक्षा बलों की मदद के बिना, हम एक कठीन समय से जुच नहीं सकते थे। मैं अपने दिल से इन अधिकारियों का सम्मान करता हूं और मुझे उनके स्वभाव और प्रदर्शन के तरीके बहुत पसंद है। वे अपने जीवन के प्रति बहुत उत्साहित रहते है और वे हमेशा हमारे बारे में खुद से पहले सोचते हैं। हम हमेशा उनके आभारी रहेंगे। मेरा उनके प्रति बहुत बड़ा सम्मान है क्योंकि वे हमेशा घर से दूर रहते हैं और भारत माँ की रक्षा करते हैं। वे बहुत समर्पित हैं भले ही उनके सामने कुछ भी आए वे भारत की रक्षा करते है। मैं उनके बलिदान को सलाम करता हूं।

मनीत जौरा, प्रेम बंधन

जब हम हमारे घरों में बंद इस वायरस से बचने की कोशिश कर रहे थे तब हमारे संरक्षक बनकर हमारी सेना सेवा करने आई और उन्होंने सीमा पर भी अपनी ड्यूटी नहीं छोड़ी। कौन कहता है कि सुपर ह्यूमंस मौजूद नहीं हैं? हमरे रक्षा अधिकारी ही यह सुपर ह्यूमंस हैं।

मैं उन सभी को सलाम करना चाहती हूं और उनके सेवा के लिए धन्यवाद देना चाहती हूं। हमारे देश के प्रत्येक रक्षा कर्मियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं। हम आपकी वजह से यहां हैं।

पूजा सिंह, ऐ मेरे हमसफ़र

बचपन से , मैं हमेशा मानता थी कि रक्षा अधिकारी हमारे हीरो हैं। अगर मैं एक अभिनेता नहीं होती, तो मैं एक रक्षा / पुलिस अधिकारी होना चाहती थी क्योंकि मैं दुनिया की सभी बुराइयों को मिटाना चाहती थी। मैंने एक किरदार निभाया था जहां मैं 8 महीने तक एक पुलिस अधिकारी थी और मुझे उस किरदार से प्यार हो गया आमतौर पर, जब हम सुनते हैं कि एक अधिकारी ने कुछ अच्छा काम किया है, तो हम उनकी तारीफ नहीं करते, क्योंकि हमने इस चीज पर कभी ध्यान नहीं दिया।

हालांकि, लॉकडाउन के दौरान, जब पूरी दुनिया अशांति की स्थिति में थी, यह अधिकारी बाहर थे और हमारी रक्षा कर रहे थे। मैं उनकी प्रतिबद्धता, साहस और समर्पण के लिए दिल से धन्यवाद देना चाहूंगी।

हीना परमार, ऐ मेरे हमसफर

मुझे लगता है कि पिछले साल ने मुझे जीवन में छोटी चीजों की कीमत और सराहना करना सिखाया है। मैं ऐसा करने में सक्षम रही हूं विशेष रूप से इस लिए क्योंकि महामारी के दौरान रक्षा बल सबसे आगे रहे हैं।

महामारी के दौरान सभी बलिदानों और योगदान के लिए हम उन्हें पर्याप्त धन्यवाद नहीं दे सके। मैं इस बात की सराहना करना चाहूंगी कि वे हर दिन अपने परिवारों और प्रियजनों से दूर रहे हैं और हमारी रक्षा करे रहे थे। हम हमेशा के लिए उनके आभारी रहेंगे !

टीना फिलिप, ऐ मेरे हमसफर

“गणतंत्र दिवस उन दिनों में से एक है जहां एक भारतीय में देशभक्ति की भावना सबसे अधिक होती है। लेकिन इस बार यह भावना मेरे लिए बहुत अधिक है। इस साल मैं सेना, नौसेना और वायु सेना में अपने रक्षा अधिकारियों को धन्यवाद देना चाहती हूं,

जिन्होंने महामारी के दौरान भी नॉन स्टॉप काम किया जब पूरी दुनिया घर पर थी। मुझे नहीं लगता कि हम कभी भी उनके समर्पण के स्तर से मेल खा सकते हैं और मुझे लगता है कि हम सभी को हर दिन उनके प्रति आभारी होना चाहिए और उनके साथ सम्मान के साथ व्यवहार करना चाहिए। । जय हिन्द!”

नीलू वाघेला, ऐ मेरे हमसफर

हर साल, हम इस देशभक्ति दिवस की प्रतीक्षा करते हैं लेकिन इस वर्ष हम अधिक उत्सुक हैं। हम हमेशा अपने रक्षा बलों के लिए आभारी हैं और इस दिन, हम पूरे दिल से उस भावना को व्यक्त करते हैं। लेकिन मुझे लगता है कि इस वर्ष 26 जनवरी को और अधिक विशेष होना चाहिए क्योंकि 2020 एक ऐसा वर्ष था जब हम महामारी का सामना कर रहे थे।

और जब हम सभी घर में रह रहे थे क्योंकि हमे वायरस से दर लग रहा था, रक्षा अधिकारियों ने अपनी जान जोखिम में डाल कर देश में सुरक्षा बढ़ाने और व्यवस्था बनाए रखना सुनिश्चित किया। और उन्होंने बहुत खूबसूरती से संकट का सामना किया। इसलिए, मैं उनकी सेवा के लिए बहुत आभारी हूं और मैं उनसे हमेशा हमारे लिए एक ढाल की तरह मजबूत रहने का अनुरोध करती हूं। मैं युवा पीढ़ी से सेना में शामिल होने और देश को मजबूत बनाने में मदद करने का भी आग्रह करूंगी। और मैं सभी को गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएं देती हूं।

उत्कर्षा नाइक, प्रेम बंधन

मैं एक पूर्व नौसेना सेवा कर्मी की पत्नी हूं। मेरे पति ने 15 साल देश की सेवा की। और इस के कारण मैंने उनसे देशभक्ति सीखी। साथ ही, बाइबल हमें उस स्थान का सम्मान करने के लिए सिखाती है जहाँ परमेश्वर ने हमें जन्म लेने के लिए चुना है।

इसलिए, मैं अपने देश से प्यार करती हूँ और पूरे भारत में अपने रक्षा अधिकारियों और सैनिकों की बहुत आभारी हूँ। हमारे लिए भगवान के देवदूत होने और हमारी रक्षा करने के लिए धन्यवाद। भगवान आप सबका भला करे।

वैष्णवी मैकडोनल्ड, ऐ मेरे हमसफर

सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *