यमन के अदन हवाई अड्डे पर जोरदार धमाका, 22 लोगों की मौत

INTERNATIONAL

यमन के दक्षिणी शहर अदन के हवाई अड्डे पर हुए ज़ोरदार धमाके में कम से कम 22 लोगों की मौत हो गई है और 50 से अधिक लोग घायल हो गए हैं.

सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि नई सरकार के सदस्यों को लेकर आने वाला विमान पड़ोसी देश सऊदी अरब से जैसे ही एयरपोर्ट पर पहुंचा वहां एक धमाका हुआ.

मारे गए लोगों में सहायक कर्मचारी और अधिकारी शामिल हैं. प्रधानमंत्री ने कहा है कि वो और उनका मंत्रीमंडल ठीक है.

सूचना मंत्री ने हूती विद्रोहियों पर आरोप लगाते हुए इस हमले को एक कायरतापूर्ण चरमपंथी हमला कहा है.

मंत्री इरियानी ने ट्वीट किया, “हम अपने लोगों को आश्वस्त करना चाहते हैं कि सभी कैबिनेट मिनिस्टर सुरक्षित हैं और हवाई अड्डे पर इरान समर्थित हूती विद्रोहियों के कायरतापूर्ण चरमपंथी हमले हमें हमारी ज़िम्मेदारियों से भटका नहीं पाएंगे और हमारा जीवन अन्य यमनियों की तुलना में अधिक मूल्यवान नहीं है. अल्लाह मारे गए लोगों को शांति दे और मैं घायलों के जल्दी ठीक होने की दुआ करता हूं. ”

यमन 2015 में शुरू हुए गृहयुद्ध के बाद से बर्बादी के कगार पर पहुंच गया है.

हूती विद्रोहियों के देश के अधिकतर पश्चिमी हिस्सों पर नियंत्रण करने और सऊदी अरब समर्थित राष्ट्रपति अब्दूरब्बू मंसूर हादी को देश छोड़कर भागने पर मजबूर करने के बाद सऊदी अरब के नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन ने यमन के युद्ध में हस्तक्षेप किया था. इसके बाद से यमन के हालात और बिगड़ते होते चले गए.

इस लड़ाई के कारण अब तक 110,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.
इसके अलावा दसियों हज़ार नागरिकों की मौत ऐसे कारणों से हुई है जिन्हें रोका जा सकता था. इनमें कुपोषण, बीमारी और भुखमरी शामिल हैं.

बुधवार को हुई घटना का एक वीडियो सामने आया है. जिसमें एक घातक धमाके को साफ़ देखा जा सकता है. इस धमाके से महज़ कुछ पल पहले नई कैबिनेट के सदस्य हवाई जहाज़ से उतरे थे.

मंत्रियों के स्वागत के लिए काफी संख्या में भीड़ भी जुटी हुई थी लेकिन जैसे ही विस्फ़ोट का गुबार उठा लोगों में अफ़रा-तफ़री मच गई. कुछ देर बाद गोलियां चलने की भी आवाज़ सुनाई दी.

एएफ़पी समाचार एजेंसी के संवाददाता ने बताया कि उन्होंने कम से कम दो विस्फोटों की आवाज़ सुनी.

हालांकि विस्फोट के पीछे का कारण अभी तक पता नहीं चल सका है. सऊदी टेलीविज़न चैनल अल-हदथ ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि एक मिसाइल ने टरमैक को हिट किया और विस्फोट हुआ.

इससे पूर्व अगस्त साल 2019 में अदन में एक सैन्य परेड पर हूती विद्रोहियों के मिसाइल हमले में 36 लोगों की मौत हो गई थी.

आईसीआरसी (इंटरनेशनल कमेटी ऑफ़ द रेड क्रॉस) ने कहा है कि बुधवार को हुए हमले में उनका एक सदस्य मारा गया. जबकि तीन लोग घायल हैं.

यमन की न्यूज़ वेबसाइट अल-मसदर ऑनलाइन की रिपोर्ट के मुताबिक़ श्रम मंत्रालय के एक अंडरसेक्रेटरी यास्मीन अल अवधी मारे गए हैं. साथ ही युवा और खेल मंत्रालय के उप-मंत्री मोनेर अल-वज़ीह और उप-परिवहन मंत्री नासिर शरीफ़ हमले में घायल हुए हैं.

हमले के बाद प्रधानमंत्री मइन अब्दुलमलिक सईद और उनके मंत्रीमंडल को सुरक्षा घेरे में बाहर ले जाया गया.

पीएम सईद ने ट्वीट किया, “हम और सरकार के अन्य सदस्य अदन में हैं और हम सुरक्षित हैं.”
उन्होंने लिखा, “कायर चरमपंथियों ने अदन हवाई अड्डे को निशाना बनाया जोकि यमन के लोगों और यमन के ख़िलाफ़ छेड़े गए युद्ध का ही हिस्सा है.”

-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *