नववर्ष 2021 का पहला दिन शुक्रवार के साथ पुष्य नक्षत्र का संयोग बनना अच्छी शुरुआत

Religion/ Spirituality/ Culture

नववर्ष 2021 (New Year 2021) का पहला दिन शुक्रवार के साथ ही पुष्य (Pushya) नक्षत्र का संयोग बनना अच्छी शुरुआत मानी जा रही है। इसके अलावा इस पूरे महीने में दो बार पुष्य नक्षत्र अपनी आभ ब‍िखेरेगा। पहला शुक्र-पुष्य योग इस 31 दिसंबर 2020 की शाम 7.50 से शुरू होगा और 1 जनवरी की शाम तक रहेगा। गुरु और शुक्रवार को पुष्य नक्षत्र का संयोग खरीदी-बिक्री के लिए बहुत शुभ रहेगा। साथ ही सूर्य-बुध ग्रह की युति से बन रहा बुधादित्य योग (Budhaditya Yoga) इस दिन को और शुभ बना रहा है।

पुष्य और बुधादित्य दोनों योग के चलते किए गए कामों में सफलता मिलेगी। नए साल के पहले ही दिन पुष्य योग में ज्वेलरी, प्रॉपर्टी, व्हीकल और नए कपड़ों की खरीदी करना भी शुभ रहेगा। शुक्रवार के स्वामी शुक्र देव हैं। ये सुख-समृद्धि देने वाले देवता हैं। इसलिए साल का पहला दिन शुभ रहेगा। वहीं कुछ दिन पहले 15 दिसंबर को सूर्य के धनु राशि में आने से बीमारियां और व्यापारिक मंदी दूर होने के योग बन रहे हैं। जिसका शुभ असर नए साल में दिखाई देगा।

जनवरी 2021 में दो बार पुष्य नक्षत्र का संयोग

जनवरी 2021 के पहले ही दिन यानी 1 तारीख शुक्रवार को पुष्य नक्षत्र होने से शुक्र-पुष्य का संयोग बन रहा है। इस दिन सुख-सुविधाएं और विलासिता से जुड़ी चीजों की खरीदारी शुभ मानी गई है। इस दिन कपड़े, आभूषण और सुगंधित चीजों की खरीदारी खासतौर से करनी चाहिए। वहीं, इसी महीने 28 तारीख को गुरुवार होने से साल का पहला गुरु पुष्य संयोग बन रहा है। इस दिन हर तरह की खरीदारी करना शुभ है।

गुरु पुष्य संयोग में किए गए कामों में सफलता मिलती है। इस दिन कोई भी शुभ काम शुरू किया जा सकता है। गुरु पुष्य योग में कोई भी बिजनस डील करना फायदेमंद होता है। ज्योतिषशास्त्र में कहा गया है कि इस योग पर शनि और गुरु दोनों का शुभ प्रभाव होता है इसलिए लंबे समय तक फायदा देने वाले काम इस योग में शुरू करने चाहिए। प्रॉपर्टी संबंधित काम और पैसों के निवेश के लिए भी ये योग बहुत अच्छा माना गया है।

अभिजीत मुहूर्त में कर सकते हैं काम

साल के पहले दिन पुष्य नक्षत्र के योग में खरमास के बावजूद अभिजित मुहूर्त में खास काम और खरीदारी कर सकते हैं। इस दिन खरीदी करना शुभ व समृद्धि देने वाला रहेगा। पुष्य और अभिजीत मुहूर्त दोनों के संयोग में की गई खरीदी व अन्य शुभ कार्य सकारात्मक परिणाम देने वाले होंगे।

खरमास में खरीदारी पर रोक नहीं, सूर्य उपासना से लाभ

16 दिसंबर से खरमास शुरू हो गया यानी सूर्यदेव धनु राशि में आ गए हैं जिससे विवाह और अन्य मांगलिक काम 14 जनवरी तक नहीं किए जाएंगे लेकिन खरमास में जमीन, मकान या वाहन खरीदारी की जा सकती है।

शास्त्रों में मलमास के दौरान खरीदारी की मनाही नहीं है। साथ ही कोई भी सामान/वाहन खरीदा जा सकता है। इन दिनों में कपड़े, आभूषण, मकान, प्लॉट या रियल इस्टेट से जुड़ी खरीदारी भी की जा सकती है। साथ ही इस दौरान सूर्य उपासना करना विशेष फलदायी माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *