आगरा: किसानों-व्यापारियों के माल को बाज़ार तक पहुंचाने के लिए रेलवे ने शुरू की क़वायद

Business

आगरा। कोरोना संक्रमण के कारण देश में हुए लॉकडाउन से देश को आर्थिक चोट पहुँची है। अनलॉक होने के बाद आर्थिक संकट को दूर करने व व्यापार को बढ़ावा देने के प्रयास किये जा रहे हैं। इसलिए किसानों और व्यापारियों के लिए रेलवे ने भी अपने दरवाजे खोल दिये हैं। किसानों और व्यापारियों के माल को नये बाज़ारों तक पहुंचाने के लिए रेलवे की ओर से आउटवर्ड लोडिंग सिस्टम योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना से किसानों व व्यापारियों को नए बाजारों तक पहुँचने का मार्ग सरल एवं सुगम हो गया है। आगरा रेल मंडल उत्तर मध्य रेलवे ने इस योजना की शुरुआत मथुरा जंक्शन पर की गई है।

मथुरा जंक्शन से आउटवर्ड लोडिंग के तहत 19 नवंबर को पहली खेप भेजी गई थी। इसमें आगरा से ITC Agro द्वारा ओडिसा के निर्गुण्डी तक गेँहू भेजा गया। अब पश्चिमी उत्तर प्रदेश, राजस्थान एवं हरियाणा क्षेत्र का प्रमुख कृषि उत्पाद गेँहू भारतवर्ष के अन्य कृषि बाज़ारो तक अपनी पहुँच बना रहा हैं। शनिवार को पुनः एक रेक की लोडिंग मथुरा से रानिगंज गंतव्य हेतु किया जा रहा है। वर्तमान में भारतीय रेलवे की कई माल भाड़ा में प्रोत्साहन नीतियों का व्यापक प्रचार प्रसार किया जा रहा है, जिससे काफी व्यापारी रेलवे की तरफ आकर्षित हो रहे हैं व अपना सकारात्मक रुख दिखा रहे हैं।

पीआरओ उत्तर मध्य रेलवे आगरा संजीव कुमार श्रीवास्तव द्वारा उपलब्ध करवाई गई जानकारी के मुताबिक मंडल रेल प्रबंधक आगरा सुशील कुमार श्रीवास्तव के निर्देशन में रेलवे ने इस यातायात को सड़क मार्ग से रेल की ओर आकर्षित किया है। रेलवे द्वारा दी जाने वाली मालभाड़ा में प्रोत्साहन नीति के कारण व्यापारियों के साथ ही साथ रेलवे व आम जनता को भी लाभ पहुंच रहा है। COVID-19 के चुनौतीपूर्ण माहौल में खाद्य पदार्थो की समयानुकूल आपूर्ति अत्यंत लाभ साबित हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *