आगरा: राज्य महिला आयोग द्वारा जनपद में महिलाओं के विरूद्ध हुई घटनाओं का लिया गया स्वतः संज्ञान

Local News

आगरा: उपाध्यक्ष उ0प्र0 राज्य महिला आयोग श्रीमती सुषमा सिंह द्वारा “सोशल मीडिया“ व अन्य मीडिया माध्यमों पर प्रसारित समाचार जनपद आगरा में “महिला से छेड़छाड़ के मामले में चली गोलियां, दो लोग घायल“, “किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म, दो गिरफ्तार“, “मानसिक दिव्यांग किशोरी से दुष्कर्म“ व “इंस्टाग्राम पर युवती की फर्जी प्रोफाइल बना डाली अश्लील फोटो“ विषयक घटनाओं का स्वतः संज्ञान लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को नोटिस/पत्र भेजकर रिपोर्ट तलब की एवं घटना पर खेद प्रकट किया गया। इसके साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि दोषियों के विरूद्ध कठोर दण्डात्मक कार्यवाही कर सूचना का सम्पूर्ण विवरण एवं कृत कार्यवाही की अद्यतन आख्या से 24 घण्टे में उपलब्ध करायी जाय।

मा0 उपाध्यक्ष द्वारा घटना को शर्मनाक एवं निंदनीय बताकर नाराजगी प्रकट की गयी व कहा गया कि मुकदमा दर्ज होने के बाद कोई पक्षपात नहीं होना चाहिये। विवेचना ईमानदारी से हो और पीड़िता को इन्साफ मिले तथा महिला सशक्तीकरण को लेकर चलाये जा रहे मिशन शक्ति को और प्रभावी बनाकर व्यापक कार्यवाही की बात कही

प्रदेश में महिला उत्पीड़न की घटनाओं का आयोग में किसी भी माध्यम से संज्ञान में आने पर उ0प्र0 राज्य महिला आयोग द्वारा संबंधित जनपद से तत्काल पत्राचार/नोटिस भेजकर सक्षम अधिकारी से दूरभाष पर वार्ता कर त्वरित कार्यवाही कर पीड़िता एवं पीड़ित परिवार को तत्काल न्याय दिलाये जाने का कार्य किया जाता है। महिलाओं एवं बालिकाओं को सुरक्षा दिलाये जाने हेतु उ0प्र0 राज्य महिला आयोग निरन्तर प्रयासरत है।

मा0 उपाध्यक्ष द्वारा बताया गया कि प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं के लिये संचालित योजनाओं को जमीनी स्तर पर गाँव-गाँव तक पहुँचाने हेतु आयोग निरन्तर प्रयासरत है। प्रदेश में महिला उत्पीड़न की रोकथाम हेतु एवं प्रभावी कार्यवाही करने के दिशा-निर्देश निरन्तर जारी किये जाने के उपरान्त भी ऐसी घटनाओ का संज्ञान में आना अत्यन्त खेदजनक बताया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *