आगरा: मानसिक चिकित्सालय की नर्स को पीटने व अभद्रता करने का मामला गर्माया, महिला आयोग में हुई शिकायत

स्थानीय समाचार

आगरा। मानसिक स्वास्थ्य संस्थान एवं चिकित्सालय में स्टाफ नर्स को पीटने और अभद्रता के बाद उसकी वीडियो वायरल प्रकरण का मामला तूल पकड़ा जा रहा है। इस मामले की गूंज महिला आयोग में भी गूंजी। स्टाफ नर्स की शिकायत पर महिला आयोग की टीम और आरटीआई एक्टिविस्ट नरेश पारस मानसिक चिकित्सालय पहुँचे और पीड़ित के साथ संस्थान के मैट्रन के बयान दर्ज किए हैं।

मामला 12 जुलाई का है। पीड़िता ने शिकायत की है कि वो संविदाकर्मी नर्स है और उसे रात को मैट्रन द्वारा पीटा गया और सुरक्षा गार्ड से इसका वीडियो बनवाया गया। इतना ही नहीं पिटाई के दौरान उसके कपड़े भी फट गए और उसी स्थिति में उसकी संस्थान के कर्मचारियों के आगे नुमाईश कराई गई। इस दौरान लोगों ने उसके वीडियो बनाये और फ़ोटो भी बनाये। पीड़िता की शिकायत के बाद पुलिस आई लेकिन कोई उचित कार्यवाही नहीं हुई बल्कि संस्थान ने उसे नौकरी से भी निकाल दिया।

मानसिक आरोग्यशाला संस्थान में घटना की जांच पड़ताल के लिए पहुँची महिला आयोग की टीम व आरटीआई एक्टिविस्ट नरेश पारस ने कर्मचारियों के मोबाइल चेक किया तो मोबाइल में वीडियो तो नहीं मिला लेकिन व्हाट्सअप पर फॉरवर्ड व सेंडिंग में शो हो रहा था। इससे साफ था कि पीड़िता के साथ कुछ हुआ था।

पीड़िता ने जांच टीम को बताया कि उस पर गलत आरोप लगाते हुए उसे पीटा गया, उसकी चुनरी खींची गई। इसी हालात में उसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया और उसे कमरे में बंद कर दिया गया। पीड़िता का कहना है कि वीडियो वायरल होने के बाद लोग उसे परेशान करने लगे हैं। मानसिक स्वास्थ्य संस्थान पहुँची जांच टीम को संस्थान में व्यवस्थाएं चौपट मिली। सीसीटीवी कैमरे खराब थे जिससे सुरक्षा व्यस्था पर सवाल खड़े हो रहे थे।

महिला आयोग की सदस्य निर्मला दीक्षित ने बताया कि संस्थान का निरीक्षण किया तो यहां एक भी सीसीटीवी कैमरा सही नहीं मिला। कैमरे सिर्फ कक्षाओं में लगे थे। इससे किसी की भी निगरानी नहीं हो पा रही थी। फुटेज नहीं देख सकते, कौन प्रवेश कर रहा है।

आरटीआई एक्टिविस्ट ने बताया कि पीड़िता ने महिला आयोग की टीम को बताया कि मैट्रन और सुरक्षा गार्ड ने नर्स का वीडियो और मोबाइल नंबर वायरल कर दिया था। इस पर कई लोग अश्लील बातें करने लगे थे। यहां तक कि पुलिसकर्मी भी फोन कर मिलने के लिए बुलाने लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *