कोरोना वैक्‍सीन के लिए दुनिया को भारत से बड़ी उम्‍मीदें: बिल गेट्स

Health

दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्‍स बिल गेट्स को भारत से बड़ी उम्‍मीदें हैं। उन्‍होंने कहा कि अगले साल की पहली तिमाही तक कई कोविड-19 वैक्‍सीन फाइनल स्‍टेज में होंगी। उन्‍होंने कहा क‍ि वैक्‍सीन उत्‍पादन के लिए पूरी दुनिया भारत की ओर देख रही है।

उन्‍होंने कहा कि अगले साल कभी भी कोविड-19 वैक्‍सीन रोलआउट हो सकती है। भारत में बड़े पैमाने पर वैक्‍सीन का उत्‍पादन होगा। उन्‍होंने कहा कि उसमें से कुछ हिस्‍सा विकासशील देशों को भी मिले, इसके लिए दुनिया भारत की तरफ नजर गड़ाए है।

वैक्‍सीन उत्‍पादन के लिए खुद बात कर रहे बिल गेट्स

गेट्स ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा वैक्‍सीन उत्‍पादक देश है। ऐसे में हमें कोविड-19 वैक्‍सीन के उत्‍पादन में भारत के सहयोग की जरूरत है। उन्‍होंने कहा कि हम सब भारत में जल्‍द से जल्‍द वैक्‍सीन चाहते हैं, बस एक बार उसके प्रभावी और सुरक्षित होने का पता चल जाए। गेट्स ने यह भी कहा कि वह वैक्‍सीन के भारत में उत्‍पादन को लेकर बातचीत कर रहे हैं। एक बार कोई भी वैक्‍सीन, चाहे वह अस्‍त्राजेनेका की हो, ऑक्‍सफोर्ड की, नोवावैक्‍स की या फिर जॉनसन एंड जॉनसन की हो, आ जाए तो गेट्स भारत में उसके उत्‍पादन की पूरी कोशिश करेंगे।

…तो बच जाएंगी आधी जिंदगियां

बिल गेट्स का फाउंडेशन भी कोरोना से लड़ाई में योगदान दे रहा है। माइक्रोसॉफ्ट के संस्‍थापक ने कहा कि “यह कोई विश्‍व युद्ध जैसा नहीं है लेकिन उसके बाद की सबसे बड़ी चीज है।” उन्‍होंने कहा कि पूरी दुनिया को वैक्सीन समान रूप से मिले, भारत इसमें मदद करेगा।

गेट्स ने कहा, “हमारे पास एक मॉडल है जो दिखाता है कि अगर आप सिर्फ रईस देशों को वैक्‍सीन भेजोगे तो बाकी दुनिया में जितनी मौतें होंगी, उसकी आधी जानें बचाई जा सकती हैं। इसके लिए जिन्‍हें ज्‍यादा जरूरत है, उन्‍हें वैक्‍सीन मुहैया करानी होगी।”

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री भी अगले साल तक वैक्‍सीन की जता रहे उम्‍मीद

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के अनुसार कोरोना वैक्‍सीन अगले साल की पहली तिमाही तक आ सकती है। हर्षवर्धन ने कहा क‍ि ‘देश में कई वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है। अभी हम इस बात का अनुमान नहीं लगा सकते हैं कि कौन सी वैक्सीन सबसे ज्यादा प्रभावी होगी लेकिन 2021 की पहली तिमाही तक हम निश्चित तौर पर इसके परिणाम जान जाएंगे।’

केंद्र सरकार सरकार वरिष्ठ नागरिकों और उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों के लिए कोविड-19 के टीके को आपात स्वीकृति देने पर विचार कर रही है।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *