12 सितंबर: विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस आज

Cover Story

हम सभी लोगों ने अपने अपने स्कूल में प्राथमिक चिकित्सा करना सीखा है मुझे नहीं पता कि अब सिखाया जाता है या नहीं लेकिन दुर्घटना में जीवन बचाने के लिए और स्वस्थ जीवन जीने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को प्राथमिक चिकित्सा सेवा करनी आनी चाहिए| प्राथमिक चिकित्सा के अभाव में हर वर्ष लाखों लोग ईश्वर की शरण में चले जाते हैं| प्राथमिक चिकित्सा का लाभ आप इसी बात से लगा सकते हैं कि अब हर वाहन में चाहे वह दो पहिए का हो या चार पहिए का हो उस में प्राथमिक चिकित्सा किट कंपनियों द्वारा उपलब्ध कराई जा रही है कारण बहुत साफ है कि लाखों लोग सड़क दुर्घटना में प्राथमिक चिकित्सा ना मिलने के कारण उनकी मृत्यु हो जाती है ।समय से प्राथमिक उपचार न मिल पाने से हम अनमोल मानव जीवन खो रहे हैं। लोगों के बीच प्राथमिक उपचार का महत्व समझाने और जागरुकता लाने के लिए संपूर्ण विश्व में सितंबर के हर दूसरे शनिवार को विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेडक्रास क्रिसेंट सोसायटीज ने 2000 में इसकी शुरुआत की। हर साल अलग-अलग थीम पर इस दिवस को विश्व में मनाया जाता है आज अगर आम आदमी को प्राथमिक चिकित्सा का ज्ञान हो ( पढ़ा होना आवश्यक नहींं है ) तो हम किसी भी आपात स्थिति में चाहे वह घर में हो या बाहर सड़क पे हो पीड़ित को लेकर सीधे अस्पताल भागने की अपेक्षा हम उसकी प्राथमिक चिकित्सा करके उसके जिंदगी को बचा सकते हैं क्योंकि अक्सर देखा गया है कि जब प्राथमिक चिकित्सा के अभाव में हम उसे अस्पताल लेकर भागते हैं तो कई मामलों में बहुत देर हो जाती है और पीड़ित की जान तक चली जाती है। आज हर व्यक्ति अपने घर में प्राथमिक चिकित्सा किट रखता है वाहनों की तरह से और समय-समय पर आप देखते ही होंगे वह किट कितनी काम आती है एक रेपोर्ट के अनुसार कोविड-19 महामारी में तो प्राथमिक चिकित्सा किट का महत्व बहुत अधिक बढ़ गया है ।

लोकस्वर की श्रीमती संध्या शर्मा बताती है की हम लोगों को स्कूल में पट्टी कैसे बांधते हैं, रोगी को किस तरह लिटाया जाए , किस तरह उसके कपड़े ढीले किए जाएं , कितना पानी कब दिया जाए , उसको नींद ना आने दी जाए , इस तरह की अनेक विधाओं को हमने सीखा है। हमने देखा है हमारे जीवन में पट्टी बांधने आने का ही नहीं अन्य सभी विधा का बहुत बार लाभ हुआ है। मेरा सभी स्कूल वालों से आग्रह है कि वह समय-समय पर इस तरीके का प्रशिक्षण दें।

लोकस्वर के अध्यक्ष राजीव गुप्ता कहते हैं प्राथमिक चिकित्सा एक ऐसी विद्या है जो मरते को जीवनदान देती है आज हमारे देश में रेड क्रॉस सोसाइटी, सिविल डिफेंस , इंडियन मेडिकल एसोसिएशन,आगरा का रैनबो अस्पताल में डाक्टर निहारिका ,डाक्टर संजय चतुर्वेदी जी की संस्था share तथा तमाम समाजिक संस्था अपने सदस्यों को व आम नागरिकों को इस तरीके के प्रशिक्षण देकर असीमिक दुर्घटना चिकित्सा की जरूरत के लिए तैयार करती है। मुझे लगता है कि आगरा रेड क्रॉस सोसाइटी वह अपने कर्तव्य से विमुख रहता है यह आलोचना नहीं है उनके लिए एक सलाह है आप जैसी संस्था को आगे आना चाहिए और प्राथमिक चिकित्सा शिविर लगाकर लोगों को प्रशिक्षण देना चाहिए । ताकि डूबने, जलने, हृदयघात, सड़क दुर्घटना और आत्मघात में प्राथमिक उपचार से जान बचाई जा सकती है। घायल इंसान को तुरंत उपचार मिलना चाहिए। सभी आगरा के नागरिकों से आग्रह करूंगा प्राथमिक चिकित्सा प्रशिक्षण ले साथ घर और गाड़ी में अपने साथ हमेशा प्राथमिक उपचार किट रखें। आप लोगों का जीवन बचा सकते हैं अगर आप किसी का जीवन बचाते हैं तो निश्चित रूप से आप ईश्वर तुल्य कार्य करते हैं।

– राजीव गुप्ता जनस्नेही,
परिवहन संपदा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *