आगरा: विकास की राह देख रहा है जे के नगर गाँव, शिकायत करने पर गाँव पहुंची आगरा सीडीओ बिना दौरा किये वापस लौटी

स्थानीय समाचार

आगरा। आगरा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार विकास कार्य कराए जा रहे हैं लेकिन गांव जे के नगर, ग्राम पंचायत पोइया, ब्लॉक खंदौली तहसील एत्मादपुर के वाशिंदे आज भी नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। इस गांव की सड़कें आज भी कच्ची हैं और बरसात में जलमग्न हो जाती हैं। जल निकासी की उचित व्यवस्था न होने के कारण कच्ची सड़कों पर ही पानी जमा हो जाता है। गांव में ही एक कच्चा तालाब है जिसमें गांव का पानी जमा होता है लेकिन इस तालाब पर कोई भी कीटनाशक दवा ना छोड़कर जाने से ग्रामीण मच्छरों की समस्याओं से भी जूझ रहे हैं और संक्रमित बीमारियों के फैलने की भी आशंका जता रहे हैं।

ग्रमीणों ने बताया कि गांव में विकास कार्य ना होने की शिकायत कई बार ग्राम प्रधान व ब्लॉक स्तर पर की जा चुकी है। मुख्य विकास अधिकारी को भी ज्ञापन सौंपकर क्षेत्र में विकास कार्य कराए जाने की गुहार लगाई जा चुकी है लेकिन अभी तक गांव के मार्ग कच्चे हैं। यहाँ के लोगों को आज भी प्रशासन व जनप्रतिनिधियों की अनदेखी के चलते नारकीय जीवन जीने को मजबूर है।

ग्रामीण राजवीर सिंह का कहना है कि आजादी के बाद उन्हें मतदान का अधिकार तो मिला, वह अपने क्षेत्र के विकास के लिए जनप्रतिनिधि को चुनते हैं लेकिन आज तक उनका गांव विकास के लिए तरस रहा है। आजादी के इतने वर्षों बाद आज भी गांव की सड़कें कच्ची हैं और जल निकासी की प्रॉपर व्यवस्था ना होने के कारण बरसात में होने वाले जलभराव के कारण घरों में पानी भर जाता है।

ग्रामीण नंदकिशोर का कहना है कि कुछ दिन पूर्व मुख्य विकास अधिकारी जे रीभा गांव में आई थी लेकिन इस क्षेत्र में उन्होंने दौरा नहीं किया जबकि यहां की शिकायतें लगातार पहुंच रही हैं। प्रशासन की इस उदासीनता के कारण ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *