आगरा: जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला परामर्शदात्री समिति की बैठक सम्पन्न

Press Release

केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के पात्र ऋण आवेदनों को स्वीकृत/ऋण वितरण किया जाय।

स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया, सेन्ट्रल बैंक आफ इण्डिया एवं इण्डियन ओवरसीज बैंक को विभिन्न सरकारी योजनाओं के पात्र ऋण आवेदनों को स्वीकृत/ऋण वितरण में अपेक्षित प्रगति लाने के निर्देश।

    जिलाधिकारी श्री प्रभु एन0 सिंह की अध्यक्षता में आज जिला परामर्शदात्री समिति की बैठक  सर्किट हाउस में सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी बैंकों के सभी अधिकारियों को जिला क्रेडिट योजना के अन्तर्गत बैंकों को आवंटित लक्ष्य के सापेक्ष प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्रों यथा- कृषि, व्यापार उद्यम इत्यादि के लिये अधिक से अधिक ऋण देकर आवंटित लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने समीक्षा के दौरान स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया, सेन्ट्रल बैंक ऑफ इण्डिया एवं इण्डियन ओवरसीज बैंक को आवंटित लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति लाने तथा स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया द्वारा विभिन्न योजनाओं में आवेदनों पर ऋण स्वीकृति/ऋण वितरण में अपेक्षित प्रगति न किये जाने पर सम्बन्धित अधिकारी पर नाराजगी प्रकट करते हुए लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति लाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस कार्य में किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाय तथा सभी सरकारी कार्यालयों के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया, सेन्ट्रल बैंक आफ इण्डिया एवं इण्डियन ओवरसीज बैंक से समस्त सरकारी खाते हटाकर उन बैंको में स्थानान्तरण कर दिया जाय, जो सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर रही हैं। इसके साथ ही उन्होंने प्राथमिक क्षेत्र में भी बेहतर प्रदर्शन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अच्छा प्रदर्शन करने वाली बैंकों को पुरस्कृत भी किया जाय।  


    जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 की परिस्थितियों के अन्तर्गत घोषित इमरजेंसी क्रेडिट योजना/आत्म निर्भर भारत के तहत् सभी बैंक आवेदन करने वाले सभी पात्र एम0एस0एम0ई0 इकाईयों को ऋण की स्वीकृति/ऋण वितरण किया जाय। उन्होंने प्रधानमंत्री के साथ सम्मान निधि के अन्तर्गत शेष रह गये किसानो को भी के0सी0सी0 से आच्छादित किये जाने के निर्देश दिए।  

बैठक लेते जिलाधिकारी श्री प्रभु नारायण सिंह


    जिलाधिकारी ने सभी बैंको के अधिकारियों को केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं यथा- प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, पं0 दीन दयाल उपाध्याय स्वतः रोजगार योजना, मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना एवं मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना आदि योजनाओं के पात्र ऋण आवेदनों को स्वीकृत/ऋण वितरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने सरकार की मंशा के अनुरूप किसानों की आय को 2022 तक दोगुना करने हेतु कृषि से सम्बन्धित अनुषंगी योजनाओं यथा- मुर्गी पालन, मधुमक्खी पालन एवं मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिये फसली ऋण के अतिरिक्त पात्र किसानों को वित्तीय सुविधायें उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए।


    बैठक में एल0डी0एम0 ने बताया कि वर्ष 2019-20 में जिला ऋण योजना के अन्तर्गत 16 हजार 400 करोड़ रू0 ऋण वितरण का लक्ष्य आवंटित किया गया था। जिसके सापेक्ष कुल- 18 हजार 669 करोड़ रू0 का ऋण वितरण किया गया। जिसमें प्राथमिक क्षेत्र में 14 हजार 923 करोड़ रू0 का ऋण लक्ष्य आवंटित किया गया था, जिसके सापेक्ष 11 हजार 841 करोड़ रू0 का ऋण वितरित किया गया तथा प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अन्तर्गत कुल- 64 हजार लाभार्थियों को 485 करोड़ रू0 के ऋण वितरित किये गये।  


    बैठक में मुख्य विकास अधिकारी जे0 रीभा, उप कृषि निदेशक श्री महेन्द्र सिंह, एल0डी0एम0, उपायुक्त उद्योग श्री शरद टण्डन एवं श्री अंकित सहगल सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *