वेदांता लिमिटेड बोर्ड ने दी 2021 के लिए पहले अंतरिम डिविडेंड को मंजूरी

Business

नई द‍िल्ली। वेदांता लिमिटेड के बोर्ड ने वित्त वर्ष 2021 के लिए पहले अंतरिम डिविडेंड को मंजूरी देते हुए 9.50 रुपए प्रति इक्विटी शेयर का डिविडेंड देने की घोषणा की है। इस पर कंपनी 3500 करोड़ रुपए खर्च करेगी। डिविडेंड के लिए योग्य निवेशकों का चयन करने के लिए 31 अक्टूबर को रिकॉर्ड डेट तय किया गया है।

फेस वैल्यू का 950% डिविडेंड दिया जाएगा

अनिल अग्रवाल की कंपनी वेदांता की ओर से एक्सचेंज की दी गई जानकारी में कहा गया कि वेदांता के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की शनिवार को बैठक हुई। बैठक में 9.50 रुपए प्रति इक्विटी शेयर का डिविडेंड देने का प्रस्ताव पारित किया गया। 30 सितंबर को वेदांता के पास हिन्दुस्तान जिंक के 274.31 करोड़ शेयर थे। यह 64.92 फीसदी हिस्सेदारी के बराबर हैं। इन शेयरों की राशि करीब 5843 करोड़ रुपए होती है।

हिन्दुस्तान जिंक देगा 21.30 रुपए प्रति शेयर का डिविडेंड

बीते सप्ताह हिन्दुस्तान जिंक ने 21.30 रुपए प्रति इक्विटी शेयर का डिविडेंड देने की घोषणा की थी। इस पर करीब 9 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे। हिन्दुस्तान जिंक में वेदांता की 64.92 फीसदी हिस्सेदारी है। इस कारण डिविडेंड का अधिकांश हिस्सा वेदांता लिमिटेड को मिलेगा।

डी-लिस्टिंग में विफल हो चुकी है वेदांता

वेदांता लिमिटेड इसी महीने शेयर बाजार से डी-लिस्ट होने के लिए ऑफर लाई थी लेकिन तय संख्या में शेयर टेंडर ना होने के कारण यह डी-लिस्टिंग विफल हो गई थी। डी-लिस्टिंग के लिए आवश्यक 134 करोड़ शेयर के मुकाबले ऑफर में केवल 125.47 करोड़ शेयर टेंडर हो पाए थे। वेदांता के प्रमोटर डी-लिस्टिंग के लिए 169.72 करोड़ या कंपनी की 47.67 फीसदी हिस्सेदारी खरीदना चाहते हैं।

एक सप्ताह में 10 फीसदी बढ़े वेदांता के शेयर

डी-लिस्टिंग फेल होने के बाद वेदांता के शेयरों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। बीते एक सप्ताह में कंपनी के शेयरों में 10.31 फीसदी की तेजी आई है। 16 अक्टूबर को वेदांता का शेयर 95 रुपए प्रति पीस पर बंद हुआ था। इसके बाद पांच कारोबारी दिवस में यह 104.80 रुपए प्रति शेयर पर पहुंच गया है।

– एजेंसी

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.