विकास दुबे के 30 सहयोगियों के खिलाफ पुलिस ने की गैंगस्‍टर एक्‍ट के तहत कार्यवाही

Regional

कानपुर के बिकरू गांव में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्‍या के आरोपी और मुठभेड़ में मारे गये गैंगस्‍टर विकास दुबे के 30 सहयोगियों के खिलाफ पुलिस ने गैंगस्‍टर एक्‍ट के तहत कार्यवाही की है। बिकरू गांव में करीब तीन माह पहले अपराधियों ने पुलिस दल पर हमला किया था।

कानपुर के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) डाक्‍टर प्रीतिंदर सिंह ने शनिवार को बताया कि बिकरू कांड में जेल में बंद 30 आरोपियों के खिलाफ गैंगस्‍टर एक्‍ट के तहत कार्यवाही की गई है। डीआईजी ने कहा कि जेल में बंद इन आरोपियों के खिलाफ गैंगस्‍टर एक्‍ट की धाराओं में एक अलग मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्‍होंने बताया कि इस मामले की जांच बिल्‍हौर थाना प्रभारी पीएन बाजपेयी को दी गई है और उनसे निष्‍पक्ष जांच की अपेक्षा की गई है।

पुलिस ने इस माह की शुरुआत में संबंधित अदालत में बिकरू हत्‍याकांड में एक आरोप पत्र प्रस्‍तुत किया है। गौरतलब है कि दो-तीन जुलाई की रात को बिकरू गांव में जब विकास दुबे को पकड़ने के लिए पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र मिश्रा की अगुवाई में पुलिस दल पहुंचा तो कुछ ही देर बाद छतों से गोलियां बरसाई गईं जिसमें पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिसकर्मी मारे गये। इस मामले में बाद में पुलिस ने सरगना विकास दुबे समेत कई अपराधियों को मुठभेड़ में मार गिराया। गैंगस्‍टर एक्‍ट के प्रावधानों के तहत कोई भी जिला मजिस्‍ट्रेट किसी गैंगस्‍टर की संपत्ति की कुर्की का आदेश दे सकता है।

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.