योगी सरकार ने पेश किया 479 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट

City/ state Regional

यूपी विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के पहले गुरुवार को 8 हजार 479 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट विधानसभा में पेश किया। बजट में किसानों व बुजुर्गों के लिए पेंशन सहित प्रदेश के कई हिस्सों को 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने, खेल व काशी विश्वनाथ के लिए भी धन आवंटित किया गया है।

अनुपूरक बजट में 24 घंटे बिजली की आपूर्ति के लिए पावर कॉरपोरेशन को 10 अरब रुपये, हर घर बिजली योजना के लिए अलग से 185 करोड़ रुपये, खेल विभाग को 10 करोड़ रुपये, काशी विश्वनाथ दर्शन के लिए 10 करोड़ रुपये, किसान और वृद्घावस्था पेंशन के लिए 670 करोड़ रुपये, सूचना विभाग के लिए 150 करोड़ रुपये और यूपी गौरव सम्मान के लिए 10 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

इस दौरान प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने वित्तीय वर्ष 2021-22 का दूसरा अनुपूरक बजट और वर्ष 2022-23 के एक भाग के लिए लेखानुदान प्रस्तुत किया। वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने अपने भाषण में कहा कि 2022-2023 में 5,44,836.56 करोड़ रुपये की प्राप्तियां होंगी, जिसमें 4,53,097.56 करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्तियां, 91,739 करोड़ रुपये की पूंजी लेखे की प्राप्तियां, जिसमें 89,174 करोड़ रुपये की लोक ऋणों से प्राप्तियां और 2,565 करोड़ रुपये की ऋणों और अग्रिमों की वसूली से होने वाली प्राप्तियां सम्मिलित हैं। राजस्व प्राप्तियों की 4,53,097.56 करोड़ रुपये की राशि में राज्य के अपने कर राजस्व से 2,08,655 करोड़ रुपये, केंद्रीय करों से राज्यांश से 1,26,383.61 करोड़ रुपये, करेतर राजस्व से 23,406.48 करोड़ रुपये तथा केंद्रीय योजनाओं के लिए भारत सरकार से सहायता अनुदान के रूप में 94,652.47 करोड़ रुपये के अनुमान सम्मिलित हैं। लोक ऋणों से 89,174 करोड़ रुपये की अनुमानित प्राप्तियों के अंतर्गत भारत सरकार से 2500 करोड़ रुपये तथा अन्य स्रोतों से 86,674 करोड़ रुपये के ऋण के अनुमान सम्मिलित हैं। उन्होंने कहा कि अंतरिम बजट में कुल 5,45,370.69 करोड़ रुपये का व्यय अनुमानित है जिसमें 4,15,198.95 करोड़ रुपये का व्यय राजस्व लेखे तथा 1,30,174.74 करोड़ रुपये का व्यय पूंजी लेखे के लिए है।

वित्त मंत्री ने उत्तर प्रदेश मोटरयान कराधान ( संशोधन) अध्यादेश 2021 (उत्तर प्रदेश अध्यादेश संख्या 9 सन 2021 को सदन के पटल पर रखा।), उत्तर प्रदेश माल और सेवा कर ( संशोधन) अध्यादेश 2021 (उत्तर प्रदेश अध्यादेश संख्या 8 सन 2021) अधिवक्ता कल्याण निधि ( संशोधन) अध्यादेश 2021 ( उत्तर प्रदेश अध्यादेश संख्या 10 सन 2021) को सदन के पटल पर रखा।

विधानमंडल सत्र के पहले दिन बुधवार को दोनों सदनों में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष व विधानसभा सदस्य सुखदेव राजभर, सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत तथा उनके साथ हादसे में शहीद 12 अन्य सैन्य अधिकारियों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इनके अलावा पिछले सत्र के बाद से अब तक दिवंगत हुए पूर्व सदस्यों को भी सदन ने श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद सदन की कार्यवाही बृहस्पतिवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी।

विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सुखदेव राजभर, सीडीएस बिपिन रावत व अन्य सैन्य अधिकारियों के निधन की सूचना दी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सुखदेव राजभर एक संवेदनशील और जनता प्रति समर्पित जनप्रतिनिधि थे। वह बेहद सरल और शालीन थे इसलिए जनता में बेहद लोकप्रिय थे। उनकी कर्मठता की मिसाल दी जाती रही है। उन्होंने अपने दीर्घकालीन राजनीतिक जीवन में कई उल्लेखनीय काम किए हैं।

तमिलनाडु के कुन्नूर में हेलीकॉप्टर हादसे में शहीद हुए देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और अन्य 12 सैन्य अधिकारियों को श्रद्धांजलि देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देश के लिए बड़ी क्षति है। जनरल रावत को सटीक और साहसिक फैसले लेने के हमेशा याद किया जाएगा।

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.