मेलानिया ट्रंप ने कहा, सभी वोटों की गिनती होनी चाहिए

INTERNATIONAL

वॉशिंगटन। डोनाल्‍ड ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप ने एक ट्वीट करके कहा है कि सभी वोटों की गिनती होनी चाहिए.

सीएनएन पर एक अपुष्ट रिपोर्ट प्रकाशित होने के बाद मेलानिया ट्रंप ने ट्वीट किया, “अमेरिकियों को पारदर्शी तरीके से कराए गए चुनावों का हक है. सभी वैध वोटों को गिना जाना चाहिए.”

सीएनएन की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि मेलानिया, डोनाल्ड ट्रंप से चुनाव नतीजे मानने की गुज़ारिश कर रही है

दरअसल, डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप ने अमेरिकी चुनाव के बारे में कुछ नटों के अंतर पर ट्वीट कर चुनाव के नतीजों को खारिज किया है.

रविवार को ट्रंप वर्जीनिया के गोल्फ़ क्लब में थे जहां उन्होंने बाइडन को विजेता बताने के लिए मीडिया पर निशाना साधा.

ट्रंप ने कहा “मीडिया कब से ये तय करने लगी कि हमारा अगला राष्ट्रपति कौन होगा. बीते दो सप्ताह में हम सबने काफी कुछ सीखा है.”

नतीजों के बाद ट्रंप की पार्टी में मतभेद

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे आने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी में मतभेद नज़र आने लगे हैं.

पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने डेमोक्रेट जो बाइडन की जीत पर उन्हें बधाई दी है और कहा है कि चुनाव निष्पक्ष हुए मगर रिपब्लिकन पार्टी के कुछ और बड़े नेताओं ने अभी तक राष्ट्रपति ट्रंप की हार को स्वीकार नहीं किया है.

हाउस ऑफ़ रिप्रेज़ेंटेटिव्स में पार्टी के नेता केविन मैक्कार्थी ने कहा है कि पहले हर क़ानूनी चुनौती पर विचार किया जाना चाहिए.

वहीं राष्ट्रपति ट्रंप अभी भी ट्विटर पर दावा कर रहे हैं कि मतदान में धोखा हुआ और चुनाव परिणाम को ‘चुरा’ लिया गया. हालाँकि ट्विटर ने उनके दावे को ‘विवादित’ बताया है.

राष्ट्रपति ट्रंप ने कई ट्वीट किए हैं जिनमें एक में उन्होंने लिखा है,”हम मानते हैं कि ये लोग चोर हैं….ये एक चुराया हुआ चुनाव था.”

हालाँकि, रिपब्लिकन पार्टी में कई लोग राष्ट्रपति चुनाव से नतीजों को स्वीकार करने का अनुरोध कर रहे हैं.

वर्ष 2000 के चुनाव में हुए चुनाव में जॉर्ज डब्ल्यू बुश की ओर से फ़्लोरिडा में मतों की दोबारा गिनती करवाने के लिए क़ानूनी रणनीति बनाने वाले वकील बेन गिन्सबर्ग ने अमरीकी टीवी चैनल सीबीएस से कहा कि “ट्रंप को थोड़ा ठहरकर, नतीजों को देखना चाहिए”.

उन्होंने राष्ट्रपति को सीधे संबोधित करते हुए कहा, “ये एक लोकतंत्र है. ये वो देश है जो आपके लिए बहुत अच्छा रहा है. आपको केवल इतना करना है कि आप संस्थाओं का आदर करें और इनमें सबसे महान संस्था हमारे चुनाव हैं जिनसे कि सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तांतरण होता है. और आप उसको तहस-नहस नहीं कर सकते.”

-BBC

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.