मुख्तार अंसारी को UP पुलिस की गाड़ी पलटने का डर था, जेल में लिया बेड रेस्ट

Regional

लखनऊ। पंजाब के रोपड़ जिला जेल में बंद माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश लाया जाना था। इसके लिए यूपी पुलिस की 50 सदस्यीय टीम पंजाब गई थी लेकिन उन्हें खाली हाथ ही लौटना पड़ा। पंजाब के मेडिकल बोर्ड ने मुख्तार का स्वास्थ्य खराब बताया है और उन्हें तीन महीने का कंप्लीट बेड रेस्ट करने को कहा गया है।

बसपा विधायक मुख्तार की मेडिकल रिपोर्ट यूपी सरकार को भेजी गई है। इसमें लिखा है कि मुख्तार अंसारी डायबिटीज, स्लिप डिस्क और डिप्रेशन समेत अन्य बीमारियों से पीड़ित हैं। उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है इसलिए उन्हें तीन महीने के बेड रेस्ट की सलाह दी जाती है।

इस मेडिकल रिपोर्ट के बाद मुख्तार का लाया जाना टल गया है। अब यूपी पुलिस उच्चाधिकारियों और विधि विभाग के संपर्क में है ताकि इस मामले में सलाह लेकर आगे कुछ कार्यवाही की जा सके। इधर सोशल मीडिया में कहा जा रहा है कि मुख्तार अंसारी को यूपी पुलिस की गाड़ी पलटने का डर था इसलिए बेड रेस्ट ले लिया।

पंजाब गई थी यूपी पुलिस की टीम

गाजीपुर के मोहम्मदाबाद थाने में बाहुबली मुख्तार अंसारी के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। इन मामलों में मुख्तार को प्रयागराज की एमपी-एमलएलए कोर्ट में 21 अक्टूबर को पेश किया जाना था। यूपी पुलिस की एक टीम प्रोडक्शन वारंट लेकर रोपड़ गई थी लेकिन वहां से टीम को खाली हाथ लौटना पड़ा।

यह है पूरा मामला

मुख्तार अंसारी के ऊपर फर्जी दस्तावेज के आधार पर शस्त्र लाइसेंस जारी करवाने का केस है। उनके बेटे और पत्नी पर भी कई मुकदमें दर्ज किए जा चुके हैं। मुख्तार की पत्नी और बेटा फरार हैं। इधर योगी सरकार मुख्तार और उनके गैंग के गुर्गों पर ताबड़तोड़ कार्यवाही कर रही है। कई गुर्गे गिरफ्तार किए जा चुके हैं। मुख्तार और उनके गुर्गों के अवैध आशियाने भी यूपी सरकार गिरा चुकी है।

पंजाब जेल में बंद है मुख्तार

मुख्तार अंसारी लगभग 22 महीने से जेल में हैं। उन्हें पहले यूपी की जेल में रखा गया था लेकिन यहां से जनवरी 2019 से पंजाब की जेल में शिफ्ट किया गया। मुख्तार पर, उनके करीबी सहयोगी प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की जेल के अंदर हत्या करवाने का आरोप लगा था। यह हत्या 9 जुलाई, 2018 को बागपत जेल के अंदर हुई थी।

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.