बिगबास्केट अपनी बड़ी हिस्‍सेदारी बेच सकती है टाटा ग्रुप को

Business

नई दिल्‍ली। देश के ऑनलाइन ग्रॉसरी सेगमेंट में कड़ी प्रतिस्पर्द्धा होना तय है। देश की सबसे बड़ी ई-ग्रॉसर कंपनी बिगबास्केट BigBasket अपनी बहुलांश हिस्सेदारी टाटा ग्रुप को बेचने की तैयारी में है। सूत्रों की मानें तो दोनों कंपनियों के बीच इस डील को लेकर बातचीत एडवांस स्टेज में पहुंच चुकी है। इस डील के तहत बिगबास्केट अपनी 50 फीसदी हिस्सेदारी 1 अरब डॉलर में टाटा ग्रुप को बेच सकती है।

बिगबास्केट में चीन की दिग्गज इंटरनेट कंपनी अलीबाबा (Alibaba) की 26 फीसदी हिस्सेदारी है। माना जा रहा है कि यह चीनी कंपनी बिगबास्केट में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचने के फिराक में है। कंपनी के अन्य निवेशकों में एसेंट कैपिटल, सीडीसी ग्रुप और अरबाज ग्रुप शामिल हैं। इनमें से भी कुछ अपनी हिस्सेदारी बेच सकते हैं।

किन-किन कंपनियों से चल रही बातचीत

एक सूत्र ने कहा कि पिछले कुछ समय से दोनों कंपनियों के बीच बातचीत चल रही है और अभी कुछ भी कहना मुश्किल है। टाटा ग्रुप के अधिकारियों का कहना है कि ग्रुप की डिजिटल कंपनी टाटा डिजिटल के जरिए यह सौदा हो सकता है। कंपनी डिजिटल के क्षेत्र में अपनी मौजूदगी बढ़ाना चाहती है और यह उसी मुहिम का हिस्सा है। इससे पहले ईटी ने खबर दी थी कि टाटा ग्रुप ने बिगबास्केट के साथ-साथ स्नैपडील और इंडियामार्ट के साथ भी बात की है।

टाटा के ग्रॉसरी सेगमेंट में उतरने से इसमें कड़ी स्पर्द्धा होना तय है। रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले ही जियोमार्ट के जरिए इसमें उतरने की मंशा जाहिर कर चुकी है। ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट पहले ही इसमें मौजूद हैं। कोरोना काल में देश में ऑनलाइन ग्रॉसरी का चलन बहुत बढ़ा है।

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.