प्याज की सर्वाधिक खपत यूपी में, दूसरे नंबर पर आते हैं बिहार और महाराष्‍ट्र

Business

नई दिल्‍ली। प्याज की कीमतें पिछले कुछ दिनों से काफी चर्चा में हैं, क्योंकि इसकी कीमतें काफी अधिक बढ़ चुकी हैं। वैसे तो प्याज पूरे देश में ही खाया जाता है लेकिन कुछ इलाकों में इसकी खपत बहुत अधिक है और कुछ इलाकों में काफी कम। प्याज की सबसे अधिक खपत उत्तर प्रदेश में होती है, जो देश का सबसे बड़ी आबादी वाला राज्य है।

यूपी में करीब 2.1 लाख टन प्याज की खपत हर महीने होती है। ये आंकड़ा देश के बाकी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से अधिक है। उत्तर प्रदेश के बाद नंबर आता है बिहार और महाराष्ट्र का, जहां पर हर महीने 1 लाख टन से अधिक प्याज की खपत होती है।

सरकारी अधिकारियों के मुताबिक प्याज का घरेलू उत्पादन 165 लाख टन सालाना का है, जो कि इसकी सालाना खेती से काफी कम है। वहीं कभी-कभी बारिश की वजह से कभी-कभी निर्यात बढ़ जाने की वजह से प्याज की कीमतें काफी बढ़ जाती हैं। प्याज की वजह से सरकारों पर भी काफी असर पड़ा है, बल्कि कई बार तो प्याज के चलते ही सरकारें गिर चुकी हैं।

फिलहाल प्याज की बढ़ती कीमतों पर काबू करने के लिए सरकार दूसरे देशों से प्याज आयात कर रही है। सूत्रों के अनुसार इस साल प्याज की पहली खेप इजिप्ट से आयात की गई थी। वहीं सरकार ने प्याज के भंडारण को लेकर जो नियम बनाए हैं, उनसे भी प्याज की कीमतें कम होने में मदद मिली है।

प्याज की कीमतें अगस्त के अंत से ही बढ़ रही हैं, जब इस बात की खबर आई थी कि कर्नाटक में भारी बारिश की वजह से बहुत सारी खरीफ की फसल नुकसान हो गई है। प्याज की फसल अब नवंबर के बाद ही आनी है, ऐसे में कीमतों में बढ़ोतरी देखने को मिलने लगी, जिस पर काबू पाने के लिए सरकार को तमाम कोशिशें करनी पड़ रही हैं।

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.