दुनिया भर के टॉप 2% वैज्ञानिकों की सूची जारी, देश से 1500 और अकेले लखनऊ से 25 शामिल

National

अमेरिका के स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय ने दुनिया भर के टॉप 2% वैज्ञानिकों की सूची जारी की है। इसमें राजधानी लखनऊ के 25 डॉक्टर, वैज्ञानिक और प्रोफेसर शामिल हैं।

इन सभी का चयन उनके रिसर्च पेपर के अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मूल्यांकन के आधार पर किया गया है। इस सूची में पीजीआई के चार और केजीएमयू के तीन डॉक्टरों को शामिल किया गया है तो लखनऊ यूनिवर्सिटी के भी तीन प्रोफेसरों भी को जगह मिली है। इसके अलावा सीडीआरआई के छह और आईआईटीआर के चार वैज्ञानिक भी दुनिया के टॉप 2% वैज्ञानिकों की सूची में शुमार हुए हैं।

लिस्ट में एक लाख से अधिक हस्तियों के नाम

अमेरिका के कैलिफोर्निया में स्थित स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के डॉ. जॉन पीए लोननिदिस के नेतृत्व में तीन वैज्ञानिकों की टीम ने दुनिया भर के टॉप 2% वैज्ञनिकों की सूची बनाई है। इस सूची में एक लाख से अधिक वैज्ञानिकों, चिकित्सा विज्ञान, इंजीनियरिंग और मौलिक विज्ञान की हस्तियों के नाम हैं।

ल‍िस्‍ट में देश के 1500 वैज्ञानिक, डॉक्टर और इंजिनियरों को जगह

यह स्टडी 16 अक्टूबर को पब्लिक लाइब्रेरी ऑफ साइंस बायोलॉजी जर्नल में प्रकाशित हुई है। स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में बनी सूची में देश के 1500 वैज्ञानिक, डॉक्टर और इंजिनियरों को जगह मिली हैं। इनमें 25 डॉक्टर, वैज्ञानिक और दूसरे शोधकर्ता लखनऊ से हैं।

लिस्ट में PGI के चार डॉक्टर

इस लिस्ट में पीजीआई के गेस्ट्रोइंट्रोलॉजी विभाग के प्रो. राकेश अग्रवाल 490वें स्थान पर हैं। वह फिलहाल जीआईपीएमईआर-पुडुचेरी में प्रतिनियुक्ति पर निदेशक पद पर काम कर रहे हैं। अब तक उनके 263 रिसर्च पेपर छप चुके हैंष। इसी तरह गैस्ट्रोएंट्रॉलजी विभाग के प्रो. उदय चंद्र घोषाल को सूची में 931वां स्थान मिला है। आंत संबंधी रोगों के विशेषज्ञ प्रो. उदय चंद्र के 288 रिसर्च पेपर प्रकाशित हो चुके हैं।

सर्जरी के क्षेत्र में 968वीं रैंकिंग

इसी तरह सर्जिकल गैस्ट्रोइंट्रोलॉजी के प्रो. वीके कपूर को सर्जरी के क्षेत्र में 968वीं रैंकिंग मिली है। उनके अब तक 233 रिसर्च पेपर छप चुके हैं। इस सूची में पीजीआई के पूर्व छात्र डॉ. नैवेद्य चट्टोपाध्याय का भी नाम है। उन्हें एंडॉक्रिनलॉजी और मेटाबॉलिज्म में 201वीं रैंक मिली है। इसके साथ संस्थान के निदेशक प्रो. आरके धीमान को 1154वां स्थान मिला है। उनके अब तक 320 रिसर्च पेपर छपे हैं।

केजीएमयू के तीन डॉक्टरों ने भी बनाई जगह

केजीएमयू के बाल रोग विभाग की हेड प्रो. शैली अवस्थी को 536वां स्थान मिला है। अधिष्ठाता रिसर्च सेल डॉ. आरके गर्ग को 3500वां तो न्यूरोलॉजी विभाग के डॉ. नीरज कुमार को 3891वां स्थान मिली है। इस उपलब्धि पर केजीएमयू वीसी डॉ. बिपिन पुरी ने कहा कि सभी डॉक्टरों ने संस्थान का मान बढ़ाया है।

एसजेएस फ्लोरा को 44वां स्थान

एनईआईपीआर-रायबरेली के निदेशक डॉ. एसजेएस फ्लोरा का टॉक्सिकॉलजी श्रेणी में देश में पहला स्थान है। इस श्रेणी में उन्हें दुनिया भर में 44वां स्थान मिला है।

लिस्ट में एलयू के 3 शिक्षक भी

डॉ. दीपक श्रीवास्तव : बायोकमेस्ट्री
डॉ. एके श्रीवास्तव: एप्लाइड फिजिक्स
डॉ. विष्णु जी राम: आर्गेनिक कमेस्ट्री

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *