टूरिस्‍ट वीजा को छोड़कर किसी भी अन्‍य मकसद से विदेशी नागरिकों को भारत आने की छूट, बैन हटा

National

नई दिल्‍ली। सरकार ने विदेशी नागरिकों को भारत आने की छूट दे दी है। टूरिस्‍ट वीजा को छोड़कर किसी भी अन्‍य मकसद से विदेशी भारत आ सकेंगे। सभी OCI और PIO कार्ड होल्‍डर्स को भी एंट्री की परमिशन मिल गई है। गृह मंत्रालय ने गुरुवार को अनलॉक-5 के तहत सभी तरह के वीजा (इलेक्‍ट्रॉनिक वीजा, टूरिस्‍ट वीजा और मेडिकल वीजा) को बहाल करने का फैसला किया। इलाज के लिए भारत आने वाले विदेशी मेडिकल वीजा के लिए अप्‍लाई कर सकते हैं। भारत में विदेशी नागरिकों की एंट्री मार्च में लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही बंद कर दी गई थी।

कोरोना ने विदेशियों की एंट्री पर कैसे लगाया ब्रेक?

17 जनवरी: चीन यात्रा से बचने के लिए जारी की गई एडवाइजरी।
18 जनवरी: चीन और हांगकांग के यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग शुरू हुई।
30 जनवरी: चीन की यात्रा से बचने के लिए मजबूत एडवाइजरी जारी।
3 फरवरी: ई-वीजा सुविधा चीनी नागरिकों के लिए निलंबित।
22 फरवरी: सिंगापुर की यात्रा से बचने के लिए एडवाइजरी जारी की गई। काठमांडू, इंडोनेशिया, वियतनाम और मलेशिया से उड़ानों के लिए यूनिवर्सल स्क्रीनिंग।
26 फरवरी: ईरान, इटली और कोरिया गणराज्य की यात्रा से बचने के लिए एडवाइजरी जारी की गई। इन देशों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जाएगी। स्क्रीनिंग और संदिग्धों के मूल्यांकन के आधार पर उन्हें आइसोलेशन में रखा जाएगा।
3 मार्च: इटली, ईरान, दक्षिण कोरिया, जापान और चीन के लिए सभी वीजा का निलंबित किया गया। चीन, दक्षिण कोरिया, जापान, ईरान, इटली, हांगकांग, मकाऊ, वियतनाम, मलेशिया, इंडोनेशिया, नेपाल, थाईलैंड, सिंगापुर और ताइवान से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से आने वाले यात्रियों के लिए अनिवार्य स्वास्थ्य जांच के आदेश जारी हुए।
4 मार्च: सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों की यूनिवर्सल स्क्रीनिंग। स्क्रीनिंग और संदिग्धों के आधार पर उन्हें होम आइसोलेशन या अस्पताल भेजा गया।
5 मार्च: इटली या कोरिया गणराज्य के यात्रियों को प्रवेश से पहले चिकित्सा प्रमाण पत्र प्राप्त दिखाना अनिवार्य।
10 मार्च: होम आइसोलेशन, आने वाले अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों को खुद की स्वास्थ्य की निगरानी करनी चाहिए और सरकार द्वारा दिए गए, ‘क्या करें’ ‘क्या न करें’ का पालन करना चाहिए। संक्रमित देशों से आने वाले यात्री को चीन, हांगकांग, कोरिया गणराज्य, जापान, इटली, थाईलैंड, सिंगापुर, ईरान, मलेशिया, फ्रांस , स्पेन और जर्मनी उनके आगमन की तारीख से 14 दिनों की अवधि के लिए ‘होम आइसोलेशन’ में रहना होगा।
11 मार्च: अनिवार्य आइसोलेशन-आने वाले यात्रियों (भारतीयों सहित)15 फरवरी के बाद चीन, इटली, ईरान, कोरिया गणराज्य, फ्रांस, स्पेन और जर्मनी का दौरा करने वाले या आने वाले यात्रियों को न्यूनतम 14 दिनों तक ‘होम आइसोलेशन’ में रहेंगे।

16, 17, 19 मार्च- व्यापक एडवाइजरी

16 मार्च: यूएई, कतर, ओमान और कुवैत के माध्यम से आने वाले यात्रियों को कम से कम 14 दिनों तक अनिवार्य रुप से ‘होम आइसोलेशन’ में रहेंगे।यूरोपीय संघ, यूरोपीय मुक्त व्यापार संघ, तुर्की और यूनाइटेड किंगडम के सदस्य देशों के यात्रियों की भारत में यात्रा पूरी तरह से प्रतिबंधित।
17 मार्च: अफगानिस्तान, फिलीपींस, मलेशिया जाना यात्रियों के लिए प्रतिबंधित।
19 मार्च: सभी आने वाली अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें 22 मार्च से स्थगित।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *