काली मंदिर में दर्शन करने के बाद अमित शाह ने कहा, बंगाल आध्यात्मिक चेतना को जगाने वालों की भूमि रही है

Politics

कोलकाता। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पश्चिम बंगाल दौरे का आज दूसरा दिन है। शुक्रवार सुबह अमित शाह ने दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा की। अब वे कार्यकर्ता संवाद में भाग लेने के लिए कोलकाता पहुंच गए हैं। इसके बाद वे कोलकाता में मतुआ समुदाय के पार्टी कार्यकर्ता के घर खाना खाएंगे। मतुआ समुदाय के लोग बांग्लादेश से शरणार्थी बनकर पश्चिम बंगाल आए थे। बंगाल में इस समुदाय की आबादी 70 लाख से ज्यादा है।

मंदिर में दर्शन करने के बाद अमित शाह ने कहा कि बंगाल स्वामी विवेकानंद, श्री अरविंद, भक्ति मार्ग को सशक्त करने वाले, आध्यात्मिक चेतना को जगाने वालों की भूमि रही है। ये ठाकुर रामकृष्ण की भी धरती है लेकिन दुर्भाग्य से इस जमीन को तुष्टिकरण की राजनीति से कलंकित किया जा रहा है। मैंने मां काली से मोदी जी के नेतृत्व में बंगाल की भलाई के लिए प्रार्थना की।

इससे पहले गुरुवार को शाह ने भगवान बिरसा मुंडा को पुष्पांजलि अर्पित करके अपने बंगाल दौरे की शुरुआत की थी। इसके बाद उन्होंने बांकुरा में आदिवासी कार्यकर्ता के घर खाना खाया और भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की थी। इस दौरान उन्होंने ममता बनर्जी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने राज्य में दो-तिहाई मतों से भाजपा की सरकार बनने का दावा किया।

-एजेंसियां

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.